मैं मुसलमानों की खातिर अपनी जान दे सकता हूँ : हार्दिक पटेल




गुजरात विधान सभा चुनाव सम्पन्न होने के बाद पाटीदार नेता अब राष्ट्रिय नेता बनने के फ़िराक में है। वे रोज कुछ न कुछ नया करना चाहते है और जिसे सोशल मीडिया पर शेयर करना चाहते है। हालांकि, इसमें उन्हें कभी सफलता तो कभी नाकामयाबी मिलती है। गुजरात विधान सभा चुनाव में पाटीदार नेता और कोंग्रेसी नेता जोर जोर से कह रहे थे कि इस बार वो गुजरात फतह कर लेंगे लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। hardik ptel slams hindu leader 

ज़िंदा है कासगंज का राहुल उपाध्याय

अब गुजरात में मिली हार के बाद हार्दिक पटेल सभी प्रमुख विपक्षी पार्टी से मिल रहे है। इस क्रम में हार्दिक पटेल पिछले दिनों मुंबई पहंचे थे जहाँ उन्होंने संविधान बचाओ यात्रा में शिरकत भी की। इस अवसर पर उन्होंने कई ट्वीट किए, जिसमें उन्होंने लिखा संविधान बचेगा तभी तो तिरंगा ऊँचा रहेगा मेरा देश संविधान से चलता हैं।आज गणतंत्र दिन पर मुंबई में डो.बाबासाहेब अंबेडकर प्रतिमा से छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा ( गेट वे ऑफ़ इंडिया ) तक संविधान बचाओ यात्रा। hardik ptel slams hindu leader 

नसों का गुच्छा बन जाय तो क्या करें

बता दें, इस बीच गणतंत्र दिवस के मौके पर उत्तर प्रदेश के कासगंज में हिन्दू मुस्लिम के बीच हिंसा और झड़प हुई। जिसमें एक हिन्दू युवक चन्दन
गुप्ता की गोली मार हत्या कर दी गई। इसके बाद देश भर में कड़ी प्रतिक्रिया दी जा रही है। वही इस बारे में हार्दिक पटेल ने ट्विटर पर ट्वीट कर लिखा है देश के ज़्यादातर राज्यों में हिंदू मुख्यमंत्री हैं और सबसे से ज्यादा MP हिंदू है, प्रधानमंत्री भी हिंदू हैं। फिर हिंदुओं को किससे खतरा है ?? राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति भी हिंदू हैं !!
यह भ्रम भाजपाइयों ने अपने स्वार्थ में फैलाया हुआ है
कब तक इस भ्रम में रहोगे,जागो !!!! हार्दिक पटेल के ट्वीट से साफ़ प्रतीत होता है कि उन्हें हिन्दू युवक की हत्या पर कोई दुःख नहीं है। hardik ptel slams hindu leader 

नसों का गुच्छा बन जाय तो क्या करें

( प्रवीण कुमार )