बाल-बाल बचे पीएम मोदी, आतंक की कोशिश नाकाम !




अभी-अभी प्राप्त जानकारी के अनुसार देश की राजधानी दिल्ली स्थित लालकिले के अंदर भारी संख्या में राइफल्स के कारतूस और कुछ हैंड ग्रेनेड मिले हैं। पुलिस का कहना है कि प्राप्त कारतूस और विस्फोटक एक्सपायरी डेट के है। हालांकि, जाँच जारी है। शुरआती जाँच में माना जा रहा है कि बहुत पहले लालकिले के अंदर आर्मी रहा करती थी, हो सकता है कि ये कारतूस और विस्फोटक उसी समय का हो। heavy arms found redfort

पुलिस के अनुसार लाल किले में पुरात्व विभाग की सफाई चल रही है, इसी सफाई अभियान में कारतूस और विस्फोटक मिले। ये विस्फोटक उस स्थान से प्राप्त हुआ है। जंहा पर आमतौर पर कोई आता-जाता नहीं है। हो सकता है की उसे वँहा पर छुपाकर रखा गया हो। हालांकि, एक साथ इतने क्रुस्त मिलने से पुलिस की आंखे फटी की फटी रह गई। heavy arms found redfort

बम डिस्पोजल स्क्वॉड मौके पर है

आपको बता दें कि सुरक्षा और राष्ट्रिय अस्मिता के लिहाज से लालकिला सहित दिल्ली के अन्य स्थल संवेदनशील माना जाता है। उस स्थान से इतनी तादात में कारतूस और हथियारों का जखीरा मिलना सुरक्षा व्यवस्था में बड़ी चूक माना जा रहा है। हाल ही में 15 अगस्त को पीएम मोदी ने लालकिले से देश को सम्बोधित हुआ था। जबकि इससे पहले लालकिले की प्राचीर को पुलिस ने चप्पे-चप्पे की तलाशी ली थी। तलाशी के बाद पुलिस सुरक्षा की पूरी गारंटी ली थी। ऐसे में बड़ा प्रश्न है कि आख़िरकार पुलिस से इतनी बड़ी चूक कैसी हुई। इतनी संख्या में कारतूस और विस्फोटक कैसे लालकिले में लाया गया और तलाशी में पुलिस को हथियारों का जखीरा क्यों नहीं मिला ? ये तमाम तरह के सवालात दिल्ली पुलिस की ओर इशारा कर रही है कि कही न कही दिल्ली पुलिस लापरवाह होकर काम कर रही है। heavy arms found redfort

नेहरू प्लेस के पास एनकाउंटर से लोगों में हड़कम्प !

गौरतलब है कि 22 दिसंबर 2000 को लालकिले पर आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा के आतंकियों ने एके-47 से अंधाधुंध गोलियां चलाई थीं, जिसमें तीन जवानों की मौत हो गयी थी। इस घटना के बाद लालकिले की सुरक्षा बढा दी गयी है लेकिन इसके बाबजूद लालकिले पर आतंकी हमलों ई धमकियां मिलती रही है। ऐसे में लालकिले से इतनी भारी संख्या में कारतूस मिलने से पलिस प्रशासन हैरान और परेशान है। लालकिले को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। एनएसजी दस्ता और बम डिस्पोजल स्क्वॉड मौके पर है। heavy arms found redfort

( प्रवीण कुमार )