आयकर विभाग ने बिटकॉइन एक्सचेंजों में की छापेमारी




आयकर विभाग ने ने बुधवार 13 दिसंबर को देश भर के प्रमुख बिटकॉइन एक्सचेंजों में छापेमारी की। सूत्रों से पता चला है कि यह छापेमारी कर में चोरी को लेकर की गई है। इस क्रम में आयकर विभाग ने ने दिल्ली, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोच्चि और गुरग्राम सहित नौ एक्सचेंज परिसरों की पड़ताल की। आयकर विभाग ने बिटकॉइन एक्सचेंजों में की छापेमारी income tax raid bitcoin exchange 

जानिए दुनिया के टॉप रिचेस्ट क्या मानते है बिटकॉइन के बारे में

बता दें आयकर विभाग ने ने यह कारवाई इनकम टैक्स लॉ के सेक्शन 133A के तहत की है। इस धारा के अन्तर्गत कारवाई का मकसद कर चोरी और अवैध सम्पत्ति में लिप्त व्यापारियों की पहचान के लिए प्रमाण जुटाना है। इस छापेमारी से यह भी पता चलेगा कि कर चोरी करने वाले बिटकॉइन एक्सचेंजों के कारोबारियों ने किस बैंक में पैसे जमा किए, किस अनजान व्यक्ति को रकम दी, किस कारोबारी के साथ अवैध पैसे से व्यापार किए। income tax raid bitcoin exchange

बिटकॉइन

गौरतलब है कि आयकर विभाग के पास इन एक्सचेंजों के बारे में वित्तीय आंकड़ें और लेन देन के आंकड़े भी मौजूद थे। बिटकॉइन एक्सचेंजों के खिलाफ ये अब तक की सबसे बड़ी करवाई है। इस बारे में आयकर विभाग एक बयान जारी किया है। जिसमें बताया गया है कि बिटकॉइन एक क्रिप्टोकरेंसी और गोपनीय मुद्रा है। जो देश में वैलिड नहीं है। इसके बढ़ते प्रचलन से देश में भ्रष्टाचार बढ़ सकता है। आयकर विभाग ने बिटकॉइन एक्सचेंजों में की छापेमारी income tax raid bitcoin exchange 

खूबसूरती चाहिए तो भीगा बादाम खाएं

वही देश की सबसे बड़ी बैंक रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने भी बिटकॉइन को लेकर साफ़ किया है कि बिटकॉइन में इन्वेस्ट करने की जोखिम निवेशकों को खुद उठाना होगा। जबकि मोदी सरकार ने भी कहा है कि किसी भी प्रकार की धोखधड़ी के लिए सरकार जिम्मेवार नहीं होगी। income tax raid bitcoin exchange