इनकम टैक्‍स नोटिस से बौखलाई ममता बनर्जी कहा मुझे जबरन फसाया जा रहा है




तृणमूल कांग्रेस की मुसीबतें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। जहां लगातार उनकी तकरार केंद्र सरकार से हो रही है ऐसे में आयकर विभाग की एक नोटिस ने उन्हें एक बार फिर परेशान कर दिया है। तृणमूल कांग्रेस को आईटी विभाग ने लोकसभा चुनाव 2014 में 24 करोड़ रुपए खे खर्च का हिसाब देने को कहा है और कारण बताओ नोटिस जारी किया है। income tax send notice tmc 

केंद्र सरकार पर फिर से बरसेगी।

दरअसल आईटी विभाग ने उन्हें पहले ही कारण बताओ भेजा था लेकिन पार्टी की ओर से कोई जवाब नहीं आया उसके बाद विभाग ने 24 करोड़ रुपए का हिसाब देने को कहा है। तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी की पहले ही केंद्र सरकार से लगातार तकरार होती रही हैं। अब जब एक बार फिर नोटिस भेजा गया जिससे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की भौं तन गई हैं। income tax send notice tmc 

आईटी विभाग ने जो 24 करोड़ का हिसाब मांगा है यह मुख्य रूप से यह पैसे हेलीकाप्टर के किराए, राजनीतिक रैली करने, पार्टी के झ़ंड़े बांटने मद में खर्च किए गए हैं। गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस ने अघोषित खर्च के बारे में पूछा है। जिसमें 2014 में कोलकाता और मुंबई में हेलीकॉप्टर के किराए के तौर पर पंद्रह करोड़ रुपए खर्च किए जाने में अनियमितता पाए गए हैं। income tax send notice tmc 

तृणमूल कांग्रेस के तेरह नेताओं के खिलाफ ब्लैक मनी को व्हाइट करने का केस भी दर्ज है

खबरों के मुताबिक तृणमूल कांग्रेस ने इसे बात को छुपाई थी जिसका जवाब अब आईटी विभाग को देना पड़ेगा। इसके साथ ही तृणमूल कांग्रेस ने तीन करोड़ रुपए विज्ञापन और कैंपेन पर खर्च किए जिसकी भी जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई। जिसको लेकर आईटी विभाग ने सख्ती दिखाई है और कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। income tax send notice tmc 

जो कोई मोदी जी से पैसा मांगता है उसको वे गोली मरवा देते है

गौरतलब है कि पिछले कुछ सालों से तृणमूल कांग्रेस के मंत्री शारदा चिट फंड घोटाले, नारद स्टिंग और रोज वैली घोटाले में आरोपी से घिरते रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस के तेरह नेताओं के खिलाफ ब्लैक मनी को व्हाइट करने का केस भी दर्ज है जिसको लेकर गिरफ्तारियां भी हुई हैं लेकिन इस तरह के किसी भी आरोपों को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी साफ तौर पर इंकार करती रही हैं। अब जब आईटी विभाग ने उनकी पार्टी को नोटिस थमा दिया है तय है कि वे केंद्र सरकार पर फिर से बरसेगी। income tax send notice tmc