सत्ता हथियाने के लिए इंदिरा गाँधी ने इमरजेंसी लगाई थी : अरुण जेटली




42 साल पहले कांग्रेस ने देश में आपातकाल लगाई थी। जिसका जवाब अभी भी कांग्रेस के नेताओं के पास नहीं है। भाजपा का कहना है कि कांग्रेस केवल सत्ता के लिए देश को आपातकाल लगा दिया। केंद्रीय वित्त व रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि आज से 42 साल पहले देश में आपातकाल इसलिए लगाया गया था ताकि इंदिरा गांधी सत्ता में बनी रहे। indira gandhi emergency 1975

आपातकाल 42 साल पहले

आपातकाल देश के इतिहास का कलंक है। इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लागू कर लोकतांत्रिक संस्थानों पर प्रहार किया था। जिसका जवाब आज भी कांग्रेस के पास नहीं है। कांग्रेस सत्ता के बिना नहीं रह सकती है। इसके लिए देश हित का भी ख्याल नहीं रखती। अरुण जेटली ने लिखा है कि इंदिरा गांधी किसी भी तरह से सत्ता में बने रहना चाहती थी। indira gandhi emergency 1975

इसलिए उच्चतम न्यायालय के इस आदेश पर सशर्त स्थगनादेश लगाया था जिसमें यह कहा गया था कि इंदिरा गांधी को सत्ता से बेदखल करो। इंदिरा गांधी ने अपने हित साधने के लिए देश में कानून व्यवस्था को खतरनाक स्थिति बता दिया। जिसे कभी माफ नहीं किया जा सकता है। indira gandhi emergency 1975

गौरतलब है कि इंदिरा गांधी ने 25 जून 1975 को देश में आपातकाल लागू कर दिया था जिसमें देश के विपक्षी नेताओँ को लाल कोठरी में डलवा दिया। उस समय कई वरिष्ठ नेता या तो जेल में थे या अंडरग्राउंड। इसी आपातकाल ने देश में कई विपक्ष के नेता आज सत्ता में हैं जो उस समय जेल में बंद थे। indira gandhi emergency 1975

नितीश कुमार धोखेबाज है उन्होंने मेरे पापा को धोखा दिया है : तेजस्वी यादव

अरुण जेटली ने इसी आपातकाल पर चर्चा करते हुए एक लेख लिखा है जिसका शीर्षक है आपातकाल 42 साल पहले। जिसमें उन्होंने यह चर्चा कि है कि उस समय जिस प्रकार से देश के लोकतांत्रिक व्यवस्था को धज्जियां उड़ाई गई मौलिक अधिकार को निरस्त कर दिया गया। यह भूलने वाली बात नहीं है। गौरतलब है कि तत्कालिन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में 26 जून 1975 से 21 मार्च 1977 तक का 21 महीने की अवधि में भारत में आपातकाल घोषित था। indira gandhi emergency 1975