योग आरएसएस और बीजेपी वालों की साधना है इसलिए बिहार में योग दिवस नहीं मनाया जाएगा : नितीश कुमार




नीतीश कुमार योगा के समर्थन तो किया है लेकिन जिस प्रकार से देश भर में शोसेबाजी की जा रही है इसको वे गलत मानते हैं। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अतंरराष्ट्रीय योग दिवस पर किए जा रहे सरकारी कार्यक्रम का विरोध किया है उनका कहना है कि योग व्यक्तिगत चीजें हैं जिसे हर व्यक्ति को करना चाहिए। और हमलोग भी करते हैं। लेकिन जिस प्रकार से इसको करने में हजारों करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं यह ठीक नहीं है। क्योंकि एक दिन करने मात्र से क्या कोई स्वस्थ हो जाएगा। international yoga divas 2017

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर केंद्र सरकार व्यापक कार्यक्रम कर रही है

गौरतलब है कि देश भर में केंद्रीय मंत्री अलग अलग प्रदेशों में जाकर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस यानी 21 जून को योग करेंगे जिसके लिए काफी व्यवस्था की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लखनऊ में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ योग करेंगे। जिसका पूर्वाभ्यास में बाबा रामदेव ने राज्यपाल भवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ योग किया है। international yoga divas 2017

नीतीश कुमार का यही कहना है कि केवल पब्लिक स्टंट के लिए ऐसा किया जाना कहा तक उचित है। सरकार को इस तरह के तरीके से बचना चाहिए। जिसमें केवल और केवल सरकारी तंत्र का उपयोग किया जाता है। केवल एक दिन करने से कोई स्वस्थ नहीं हो जाएगा। नीतीश कुमार बड़े चालाकी से जहां केंद्र सरकार की नीतियों का समर्थन भी करते रहे हैं और आलोचना करने से भी पीछे नहीं रहे। जिसमें निहित तर्क होता है। international yoga divas 2017

नीतीश कुमार ने भ्रष्टाचार पर किए गए वार के लिए नोटबंदी का समर्थन करनेवाले पहले मुख्यमंत्री थे वहीं सरकार द्वारा उठाए गए अन्य कदमों का आलोचना भी किया। उस समय भी बड़ी चालाकी से नोटबंदी में व्यवस्था नहीं किए जाने पर सरकार की आलोचना कर गए।

हां, मैं गर्व से कहता हूँ कि मैं आरएसएस का बंदा हूँ : राम नाथ कोविंद

अब जब अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर केंद्र सरकार व्यापक कार्यक्रम कर रही है। इसका विरोध कर अपना जनाधार बचाने का एक जरिया है। जिससे की योगा का पूर्ण लाभ भाजपा को न मिल जाए। जिसमें नीतीश कुमार कहीं न कहीं सफल भी होते दिख जाते हैं। international yoga divas 2017