इंटरनेट बैंकिंग: RBI हल करने में जुटी है आपकी यह मुश्किल

रिजर्व बैंक ने 2 हजार रुपये तक के आॅनलाइन ट्रांजैक्शन के लिए नियमों में छूट दी है। रिज़र्व बैंक ने ट्रांजैक्शन पर लेन-देन के लिए हर बार अनिवार्य कार्ड का ब्योरा देने की जरूरत को खत्म कर दिया है। Internet banking: RBI is try resolve this difficult your

आरबीआई ने आॅनलाइन ट्रांजैक्शन के लिए जरूरी सत्यापन प्रक्रिया के एक स्टेप को खत्म करने के लिए समाधान निकाला है।

एटीएम कार्ड प्रोवाइडर बैंक अपने ग्राहकों के लिए अब वैकल्पिक तौर पर कार्ड नेटवर्क के पेमेंट वैरीफिकेशन सलूशन की पेशकश करेगा। अगर आप इस सुविधा का विकल्प चुनते हैं तो आपको एक बार रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

इसके बार रजिस्टर्ड ग्राहकों को हर लेन-देन पर कार्ड का ब्योरा देने की जरूरत नहीं होगी। ऐसा माना जा रहा है कि ट्रांजैक्शन के दौरान कम होने वाले इस एक कदम से यूजर को सहूलियत भी होगी और उसका समय भी बचेगा।

अब ओला, उबर, मेरू आदि कैब सर्विस कंपनियों को पेमेंट करने के लिए होने वाले सत्यापन में ओटीपी डालना अनिवार्य होता है। इसके लिए यूजर को मोबाइल पर ओटीपी आने तक का इंतजार करना होता है।

लेकिन अगर यूजर अब कार्ड प्रोवाइडर बैंक के पेमेंट वैरीफिकेशन सलूशन का विकल्प चुनता है तो उसे भविष्य में ओटीपी डालने की जरूरत नहीं पड़ेगी। वह सिर्फ अपने कार्ड का पासवर्ड एंटर करेगा और उसका पेमेंट हो जाएगा। Internet banking: RBI is try resolve this difficult your, Internet banking: RBI is try resolve this difficult your, Internet banking: RBI is try resolve this difficult your, Internet banking: RBI is try resolve this difficult your