कुलभूषण भूषण जाधव हो सकते है रिहा : अब्दुल बासित




पाकिस्तान अब कुलभूषण जाधव को रिहा करने के लिए मन बना चुका है। कुलभूषण जाधव के पास अब भी बचने के कई विकल्प हैं । पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने कहा है कि कुलभूषण जाधव की फांसी पर पुनर्विचार हो सकता है। इस बयान के बाद ऐसा माना जा रहा है कि पाकिस्तान अब यह तैयार हो गया है कि कुलभूषण याचिका आए तो उसे रिहा किया जाए। jadhav ho skte hai riha 

गौरतलब है कि इस मसले पर पाकिस्तान की काफी किरकिरी हो चुकी है। बिना सबूत के ही कुलभूषण जाधव को पाकिस्तानी मिलिट्री कोर्ट ने सजा सुना दी। जिसके बाद भारत ने बड़े ही कूटनीति स्तर से इसे केस को आगे बढ़ाया इसके लिए बड़े मुस्लिम देश से सहयोग भी लिया। jadhav ho skte hai riha 

पाकिस्तान में भी पुर्नयाचिका दायर होती है तो जाधव रिहा हो सकते हैं

उसके बाद अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का सहारा लिया गया। जहां पाकिस्तान को शिकस्त मिली और कुलभूषण जाधव के फांसी पर रोक लगा दी गई। अभी भी मामला अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में चल रहा है। पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने साफ कहा है कि जब तक मामला अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में है तब तक फांसी नहीं दी जाएगी। jadhav ho skte hai riha 

अब्दुल बासित ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के अलावा कुलभूषण जाधव के पास फांसी की सजा से बचने के उपाय हैं। कुलभूषण जाधव आर्मी चीफ जनरल से दया की फरियाद कर सकते हैं। उसके बाद राष्ट्रपति के पास भी दया याचिका दी जा सकती है। jadhav ho skte hai riha 

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय न्यायालय से आई जजमेंट के बाद पाकिस्तान के पास कोई चारा नहीं बचा कि इसे कैसे न्याय संगत किया जाए। पाकिस्तान के सेना और सरकार भी इस मसले को लेकर आमने सामने हैं। जहां सरकार अब इस मसले को आगे खिंचना नहीं चाहती है। jadhav ho skte hai riha 

पाक ने जाधव को फांसी दिया तो रिटायर्ड कर्नल को हूर के पास पहुंचा दूंगा : मोदी सरकार

वहीं सेना इस मसले पर अपना चलाना चाहती है। अब जिस तरह से पाकिस्तान की ओर से बयान आ रहे हैं इससे तो यह तय हो गया है कि अभी दो तीन साल जब तक जजमेंट नहीं आता कुलभूषण जाधव को फांसी नहीं होगी। अगर पाकिस्तान में भी पुर्नयाचिका दायर होती है तो जाधव पहले रिहा हो सकते हैं। jadhav ho skte hai riha