अरुण जेटली बन सकते है देश के अगले राष्ट्रपति !




स्वतंत्र भारत के लोकतंत्र का इतिहास रहा है कि देश के वित्त मंत्री अगले प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति बने है। फिर चाहे इंदिरा गाँधी से प्रणव मुखर्जी का सफर हो। जहाँ पंडित नेहरू, इंदिरा गाँधी और राजीव गाँधी वित्त मंत्री के बाद प्रधानमंत्री बने है वही आर वेंकटरमन, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रणव मुखर्जी वित्त मंत्री के बाद देश के राष्ट्रपति बने है। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली देश के प्रधानमंत्री अथवा देश के राष्ट्रपति बनेंगे। jaitley will become president

बता दें आजादी के बाद जितने भी वित्त मंत्री बने है। उनके लिए वित्त मंत्री की कुर्सी काफी लकी साबित हुई है। कई वित्त मंत्री देश के प्रधानमंत्री बने तो कई वित्त मंत्री देश के राष्ट्रपति बने है। आइए जानते है लकी वित्त मंत्री के बारे में जो बाद में प्रधानमंत्री अथवा राष्टपति बने है। jaitley will become president

यूपीए की जीत के बाद मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री बने।  jaitley will become president

बात देश के पूर्व वित्त मंत्री और प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई से शुरू करते हैं। देसाई दो बार वित्तमंत्री बने है। पहली बार 13 मार्च 1958 से 29 अगस्त 1963 तक और दूसरी बार 13 मार्च 1967 से 16 जुलाई 1969 तक वित्त मंत्री हुए। वित्त मंत्री की कुर्सी देसाई के लिए लकी साबित हुई और आगे चलकर वित्त मंत्री देसाई 24 मार्च 1977 को प्रधानमंत्री बने। इस पद पर देसाई 28 जुलाई 1979 तक रहे । इस मामले में चोधरी चरण सिंह भी किस्मत वाले है। वे जनवरी से जुलाई 1979 के बीच वित्तमंत्री बने रहे। जिससे उनकी किस्मत भी चमकी और चौधरी चरण सिंह 1979 से जनवरी 1980 के बीच प्रधानमंत्री बने। jaitley will become president

हालांकि, इस दरम्यान उन्हें कभी बजट पेश करने का मौका नहीं मिला। इसके बाद विश्वनाथ प्रताप सिंह है। वीपी सिंह दिसंबर 1984 से एक जनवरी 1987 तक वित्तमंत्री रहे । इसके बाद उनकी राजनीति में पदोन्नति हुई और वे दिसंबर 1989 से 10 नवंबर 1990 तक प्रधानमंत्री रहे। इस क्रम में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का भी नाम है। पहले वे 1982 से 1985 के बीच रिजर्व बैंक के गवर्नर रह। फिर 1991-1996 के बीच वित्तमंत्री रहे। इसके बाद 2004 में मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री बने। फिर अगले लोकसभा चुनाव में भी यूपीए की जीत के बाद मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री बने। jaitley will become president

राष्ट्रपति की कुर्सी खाली हुई jaitley will become president

वही आर वेंकटरमन वित्त मंत्री की कुर्सी से राष्ट्रपति की कुर्सी तक के सफर को तय किया। उन्होंने तीन बार बजट पेश किए। वे 14 जनवरी 1980 से 15 जनवरी 1982 के बीच वित्तमंत्री रहे। इसके बाद 31 अगस्त 1984 से 24 जुलाई 1987 के बीच उप राष्ट्रपति और बाद में 25 जुलाई 1987 से 25 जुलाई 1992 तक राष्ट्रपति रहे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी भी इस लिस्ट में है। वे 1982 से 1984 के बीच वित्तमंत्री रहे। उसके बाद मनमोहन सिंह के कार्यकाल में 2009 से 2012 तक वित्त मंत्री रहे।
जब 2012 में राष्ट्रपति की कुर्सी खाली हुई तो वे देश के राष्ट्रपति बने। jaitley will become president

मैं मुसलमानों की खातिर अपनी जान दे सकता हूँ : हार्दिक पटेल

प्रणव मुखर्जी ने सात बार आम बजट पेश किए। उनसे अधिक आम बजट मोरारजी देसाई और पी चिदंबरम ने पेश किए है। हालांकि, पी चिदंबरम के लिए वित्त मंत्री की कुर्सी लकी साबित नहीं हुई है। ऐसे में अब सबकी निगाह वित्त मंत्री अरुण जेटली पर है। जो है २०१४ से भारत सरकार के वित्त मंत्री है। ऐसे में बड़ा सवाल है कि क्या अरुण जेटली बाकी वित्तमंत्रियो की तरह क्या आगे प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति की कुर्सी पर पहुंच पाएंगे या नहीं। jaitley will become president

नसों का गुच्छा बन जाय तो क्या करें