कौन कितने पानी में




दिल्ली में नगर निगम चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने कमर कस ली है। जहां तीन बड़ी पार्टियां भाजपा, कांग्रेस और आप ताल ठोंक रही हैं तो कई छोटी पार्टियां भी दिल्ली में अपना जगह बनाने के लिए तत्पर है। वहीं दिल्ली के चुनाव में नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है।

दिल्ली नगर निगम चुनाव में भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है वहीं आम आदमी पार्टी की भी परीक्षा है। खास बात यह है कि भाजपा जहां अभी अभी पांच राज्यों के चुनाव में जबरदस्त जीत दर्ज की है खासकर उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में। भाजपा को लगने लगा है कि वह दिल्ली में भी बाजी मार लेगी। janiye kaun bnega vijeta 

मोदी और केजरीवाल कौन कितने पानी में हैं

हालांकि यह उनके लिए इतना आसान नहीं है क्योंकि दिल्ली के तीनों नगर निगम पर उनका कब्जा है और सत्ता विरोधी लहर का असर भी हो सकता है। हालांकि भाजपा रणनीतिकार अध्यक्ष अमित शाह ने इसका काट निकाल लिया है और सभी नगर निगम सदस्यों को टिकट ना देकर पहली बाजी हाथ मार ली है। लेकिन यह आने वाला वक्त ही बताएगा की भाजपा कितने पानी में है। वहीं आम आदमी पार्टी के लिए भी यह चुनाव प्रतिष्ठा का विषय बन गया है। दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने भाजपा और कांग्रेस का सुफड़ा साफ कर दिया। janiye kaun bnega vijeta 

हिंदुस्तान के मुसलमानो को गौ मांस नहीं खाना चाहिए : मोहम्मद कैफ

कांग्रेस को तो एक भी सीट नहीं मिली, वहीं भाजपा के मात्र तीन सीटें मिली थी। वैसे में आम आदमी पार्टी को पहले तो यह लगा कि वह आसानी से नगर निगम भी जीत लेंगे। लेकिन जबसे भाजपा ने चार राज्यों में जीत दर्ज की है तब से आम आदमी पार्टी को सांप सूंघ गया और अपने कई प्रत्याशी बदल भी दिए। और लगातार प्रचार में जुटे हुए हैं लेकिन इन्हें भी सत्ता विरोधी लहर का सामना करना पड़ रहा है। पहले चुनाव आयोग ने इन्हें झटका दे चुका है और आम आदमी बोर्ड से हटा दिया। इस चुनाव में कौन बाजी मारता है इससे यह तय होगा कि मोदी और केजरीवाल कौन कितने पानी में हैं। janiye kaun bnega vijeta