गुरमेहर कौर विवाद में जावेद अख्तर ने देश से मांगी माफ़ी !




प्रसिद्ध शायर, गीतकार और राज्य सभा के पूर्व सांसद जावेद अख्तर ने गुरमेहर मामले में वीरेंद्र सहवाग सहित देश के सभी खिलाड़ियों पर दिए गए टिप्पणी के शब्द वापस ले लिए है। जावेद अख्तर ने गुरमेहर कौर मामले में वीरेन्द्र सहवाग, योगेश्वर दत्त और गीता फोगाट के बयान पर कड़ी आलोचना की थी। javed akhtar said nation sorry 

जावेद अख्तर ने ट्विटर हैंडल पर एक पोस्ट के कहा, वीरेंदर सहवाग एक अच्छे खिलाड़ी है और वीरेंदर सहवाग भी स्प्ष्ट कर चुके है कि वो गुरमेहर के खिलाफ नहीं है। इसलिए मैं अपने दिए गए बयान को वापस लेता हूँ। javed akhtar said natiदेश विरोधी तत्वो की बोलती बन्द हो गयी हैon sorry 

देश विरोधी तत्वो की बोलती बन्द हो गयी है

आपको बता दें कि रामजस कॉलेज में हिंसक झड़प के बाद देश दो खेमे में बंट गया। इस मामले को शहीद मनदीप सिंह की बेटी ने उस वक्त तूल दे दिया। जब उसने सोशल साइट पर एंटी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की मुहीम छेड़ी। जिसको लेकर नेता, अभिनेता और खिलाड़ी ने अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दी। जिसमें जावेद अख्तर ने ट्विटर पर नाराजगी जताते हुए लिखा था, यदि कम पढ़ा-लिखा खिलाडी शहीद की बेटी को ट्रोल करता है। तो समझ में आता है। लेकिन पढ़े लिखे लोगों को क्या हो गया। वो भी इस तरह की हरकत करने लगे है। जावेद अख्तर के बयान के बाद ट्विटर पर लोगों ने खिलाडियों के समर्थन में आ गए, और जावेद अख्तर की जमकर आलोचना की। javed akhtar said nation sorry 

देश विरोधी तत्वों को सहवाग ने दिया मुहतोड़ जबाब

गौरतलब है कि राष्ट्रपति डॉ. प्रणव मुखर्जी ने कल एक कार्यक्रम में कहा कि देश के खिलाफ बोलना देश के लिए हितकर नहीं है। अभिव्यक्ति की आजादी सबको है। लेकिन देश की गरिमा का ध्यान रखना चाहिए। यदि किसी व्यक्ति या छात्र को किसी विषय को लेकर संशय है तो इसको तार्किक ढंग से विद्यालय परिसर में सुलझाया जाये। ताकि देश की अखण्डता बनी रहे। राष्ट्रपति के इस ब्यान के बाद से सभी देश विरोधी तत्वो की बोलती बन्द हो गयी है। ऐसे में जावेद अख्तर का अपने बयान को वापस लेना कोई बड़ी बात नहीं है। ये तो होना ही था। javed akhtar said nation sorry