ग्रामीण बैंकों के पेंशन कर्मी को कब मिलेगा इंसाफ ?




ग्रामीण बैंकों के पेंशन कर्मी 18अप्रेल को होने वाले सुनवाई पर अपनी टकटकी लगाए हुए हैं। ग्रामीण बैंक एसोशिऐशन शगुन शुक्ला ने दिल्ली मोबाइल न्यूज़ 24 में संवाददाता हरि शंकर तिवारी को फ़ोन कर ये जानकारी दी। अपने ब्यान में ग्रामीण बैंक कर्मियों के सेवा और उनकी हो रही दुर्दशा पर प्रकाश डालते हुए कहा की समय रहते अगर इसमें न्याय नही मिला तो घोर अनर्थ हो जाएगा। उन्होंने कहा न्यायपालिका और इस नई सरकार से पूरी उम्मीद आशा और विश्वास है। kab milega insaaf 

ग्रामीण किसान मजदूर और मजबूर लोगों की सेवा का अगर ये प्रतिफल है तो वास्तव में ये अमीरों के द्वारा गरीवों की जा रही अपमान के अलावा कुछ नहीं है। हम ग्रामीण बैंक कर्मियों की सेवा को आखिर किस आधार पर आजतक लटकाये रखा गया। श्री शुक्ला ने हमे बताया की 1 से 6 तक के प्रवेश की अनुमति मिली है ,जो की स्वकृति स्टार के हैं।इसमें इनके केश की सुनवाई की पूरी संभावना है। इसके साथ ही उनहोंने यु पी ऑफिसर्स फेडरेशन के कार्यकारणी की वैठक 23 अप्रैल को को होटल विश्वनाथ में होने की बात कही। 20 लाख ग्रेचुटी सीमा के आदेश अभी तक नहीं हुए हैं। kab milega insaaf 

1995 के पेंशन वृद्धि का अंतरिम आदेश सर्वोच्च न्यायालय का आया हैं उसके पड़ने वाले प्रभावों का अध्ययन केंद्रीय समिति कर रही है। इसका क्या प्रभाव पड़ेगा इस पर विचार विमर्श किया जाएगा। प्रोनति नीति संशोधन में इनकी नियत स्पष्ट हो चुकी है और िंखे इस नीती के हमने कमर कस ली है। kab milega insaaf 

जल्द ही केंद्रीय समिति इस पर निर्णय लेने जा रही है। उन्होंने सभी यूनिटों से योगदान अंश केंद्रीय एवं प्रादेशिक संगठनों से संगठन को अविलब उपलब्ध करवाने की अपील की है। खासकर बी जे पि साशित सभी राज्यों में अभियान जारी है। गोरखपुर के सभी साथी सदस्य्ता 20-21 को ग्रहण करेंगे। समान पेंशन लागू करना पड़ेगा लगता है अब समय आ गया है। kab milega insaaf 

( हरि शंकर तिवारी )