ऐसे करें कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान और ध्यान तो बनेंगे सारे बिगड़े काम




सनातन धर्म में पूर्णिमा को शुभ , मंगल और फलदायी माना गया है। हिन्दू पंचांग केअनुसार वर्ष में 16 पूर्णिमा होती है और इस 16 पूर्णिमा में वैसाख, माघ और कार्तिक पूर्णिमा को स्नान-दान के लिए सर्वश्रेष्ठ माना गया है। इस वर्ष कार्तिक पूर्णिमा शनिवार 4 नवंबर 2017 को मनाई जाएगी। ऐसे करें कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान और ध्यान तो बनेंगे सारे बिगड़े काम kartik purnima snan dhayan 

कार्तिक माह को दामोदर माह भी कहा जाता है क्योकि भगवान विष्णु को दामोदर के नाम से भी सम्बोधित किया जाता है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु मत्स्य अवतार में अवतरित हुए थे। ऐसे करें कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान और ध्यान तो बनेंगे सारे बिगड़े काम kartik purnima snan dhayan 

तुलसी विवाह पर करे ये काम आपके वैवाहिक जीवन होंगे सफल

हिन्दू धर्म के वेदो, महापुराणों और शास्त्रो ने कार्तिक माह को हिंदी वर्ष का पवित्र और पावन महीना बताया है। कार्तिक माह की शुरुवात शरद या आश्विन पूर्णिमा के दिन से होती है जो कार्तिक पूर्णिमा के दिन खत्म होती है। कार्तिक माह को स्नान माह भी कहा जाता है क्योकि इस दौरान लोग प्रतिदिन सुबह में पवित्र नदियों और तालाबों में स्नान कर, पूजा अर्चना व् दान करते है। भीष्म पंचक और विष्णु पंचक का व्रत भी कार्तिक पूर्णिमा के दिन समाप्त होता है। ऐसे करें कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान और ध्यान तो बनेंगे सारे बिगड़े काम kartik purnima snan dhayan 

गंगा नदी के किनारे वाराणसी में देव दीपावली मनाया जाता है

कार्तिक पूर्णिमा के दिन भगवान शिव जी ने त्रिपुरासुर नामक राक्षस का वध किया था। त्रिपुरासुर के वध के पश्चात समस्त लोको के देवी देवताओ ने इस प्रसन्नता में गंगा नदी के किनारे असंख्य दिये जलाये थे जिस कारण कार्तिक पूर्णिमा को देव दीपावली भी कहा जाता है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा नदी के किनारे वाराणसी में देव दीपावली मनाया जाता है। अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें www.hindumythology.org



Leave a Reply