धर्म, जाति या भाषा कोई हो पर कश्मीर में आज भी भाईचारा ज़िंदा है !




जम्मू कश्मीर में लगातार तनाव बढ़ा हुआ है ऐसे में यह कहा जा रहा है कि यहां केवल दंगा फसाद ही होता है। जम्मू कश्मीर में जिस प्रकार से लगातार बीस सालों से सेना का वर्चस्व रहा है इससे सामान्य लोगों को लगता है कि यहां केवल दंगें फसाद की जगह है। जबकि यह प्रदेश भी वैसा ही है जैसे अन्य प्रदेश हैं। यहां भी भाई चारा है। kashmir men aj bhi bhaichara zinda hai 

पर्यटकों के लिए काफी मनमोहक है

हां यह मान सकते हैं कि यहां मुस्लिमों की संख्या ज्यादा है। जबकि अन्य धर्मों के लोग भी तीस फीसदी हैं जिसमें हिंदू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई, जैन सहित अन्य धर्म वाले भी हैं। जम्मू कश्मीर में अन्य प्रदेश के लोगों की तरह दूसरे धर्म के लोगों का सम्मान करते हैं। अगर गरीब है और जरूरत हुई तो उनकी सहायता करने से नहीं चूकते हैं। अन्य प्रदेश के लोगों को भले ही लगे कि यह प्रदेश केवल दंगा फंसाद और पत्थरबाजी में लगा है तो यह गलती है। kashmir men aj bhi bhaichara zinda hai 

जम्मू कश्मीर के भी युवक अन्य प्रदेशों के युवक की तरह समाज की मुख्य धारा में चलते हैं। प्रदेश के युवाओं में तनाव है क्योंकि बीस सालों से यह प्रदेश सैनिक के निगरानी में है। उनकी मानसिकता को समझा जा सकता है। जम्मू कश्मीर के युवा भी अन्य प्रदेश के युवाओं की तरह ही करियर के प्रति काफी सजग हैं। kashmir men aj bhi bhaichara zinda hai 

मोदी सरकार देश को ‘हिंदू बम’ बनाने की फ़िराक में है : अरुंधति राय

आज भले ही संघर्ष के दिन हैं लेकिन यह दिन भी दूर हो जाएगा। जम्मू कश्मीर में भी अन्य प्रदेशों के बच्चों के रिजल्ट की तरह यहां भी प्रतिक्षारत रहते हैं और परिणाम आते ही काफी खुशी भी होती है। जम्मू कश्मीर का मौसम भी अन्य प्रदेशों की तरह ही है हां यहां ठंड ज्यादा है और गर्मी का तापमान 33 फीसदी हो जाए तो गर्मी काफी कही जाती है। गर्मियों में यहां मौसम काफी खुशनुमा होती है। जम्मू कश्मीर में डल झील है अभी भी वह पर्यटकों के लिए काफी मनमोहक है। kashmir men aj bhi bhaichara zinda hai