कांग्रेस की कब्र खोदते राहुल गाँधी, आज दफना कर ही छोड़ेंगे !





राहुल गाँधी जिसे दुनिया पप्पू के नाम से भी जानती है। हाल ही में अमेरिका से लौटे है लेकिन लौटते ही राहुल गाँधी ने नये रेज़लूशन के साथ नये साल की शुरुवात की है। उनकी रेज़लूशन लिस्ट तो काफी लम्बी है जिसका एक-एक करके जिक्र करना थोड़ा मुश्किल है। हां, कुछ को तो जरूर हम आपसे साझा कर सकते है। congress ki kbra khodte rahul gandhi

देश को राहुल गाँधी से बड़ी उम्मीद है क्योंकि आने वाले दिनों में वो देश के बड़े विपक्षी नेता बनने वाले है। ये भविष्यवाणी वास्तविक है कि ये आने वाले दिन दो या तीन दशक का हो सकता है। खैर, हम राहुल गाँधी के नेता वादिता पर टिपण्णी कर आपका समय बर्बाद नहीं करूँगा। पुनः मुद्दे पर अर्थात राहुल गाँधी के रेज़लूशन पर आते है। congress ki kbra khodte rahul gandhi

पीएम मोदी ईमानदार, कर्मठ और मेहनती राजनेता है : कोर्ट

राहुल गाँधी ने अप्रैल में प्रशांत किशोर से यूपी का सीएम बनने की इच्छा प्रकट की थी लेकिन पीके ने राहुल गाँधी की एक नहीं सुनी। आनन-फानन में दिल्ली से ठुकराये सीएम उम्मीदवार शीला दीक्षित को सीएम उम्मीदवार बना दिया। शीला ने राहुल के रास्ते में ऐसी शिला अर्थात पत्थर अटकाया कि राहुल की रैली का खाट अपने पाट के साथ लूट गया। राहुल गाँधी चुप-चाप देखते रह गये। congress ki kbra khodte rahul gandhi 

राहुल गाँधी के इस शुभ कार्य से सभी कांग्रेसी नेता सदमे में है

राहुल गाँधी ने पीके से पूछा कि आखिर खाट क्यों लूट गया। पीके ने कहा इसमें भी राज छिपा है। राहुल पीके से इतने खफा हुए कि अगले रैली में राहुल मंच से कूद कर रैली स्थल से भाग निकले। राहुल अलीगढ से जो भागे दिल्ली आ पहुंचे। कांग्रेस ने राहुल गाँधी के दिल्ली पहुँचने पर किसान रैली का आयोजन किया। जिसमें राहुल गाँधी को मुख्य अतिथि बनाया गया। इस रैली के दो दिन पूर्व ही राहुल गाँधी ने जीवन में पहली बार सत्य वचन का प्रयोग किया था। ये सत्य वचन पीएम मोदी के लिए बोला गया था। congress ki kbra khodte rahul gandhi 

ये तो अब पीएम मोदी साहब को ही पता होगा कि आखिर उन्होंने ऐसा कौन सा जादू चलाया कि कांग्रेस का एकलौता राजकुमार पीएम मोदी की जुबानी बोलने लगा। पीके ने फिर फिरकी ली और राहुल गाँधी को उसी दिन एक ज्योतिष से दिखवाया। ज्योतिष ने बताया कि राहुल गाँधी को विदेश भृमण की आवश्यकता पड़ गयी है। फिर भी आज के भाषण के लिए ये भस्म दे रहा हूँ और कुछ यन्त्र सिद्धि दे रहा हूँ जिसके करने से राहुल गाँधी 6 महीने तक मानसिक तौर पर स्वस्थ और कांग्रेस के समर्थन में रहेंगे। लेकिन इन्हें वर्ष के प्रारम्भ में दुनिया की सैर अवश्य करायें। congress ki kbra khodte rahul gandhi 

पीके ने आव देखा न ताव राहुल गाँधी के मस्तक पर भाषण से पहले भस्म लगा दिया। भस्म चमत्कारी निकला। राहुल गाँधी ने दिल्ली के किसान रैली में पीएम मोदी के खिलाफ जमकर बोले। उन्हें सेना के खून का दलाल भी कह दिया। राहुल गाँधी के बदले तेवर से कांग्रेस ने चैन की साँस ली। हालांकि, बीजेपी और पीएम मोदी पर इसका कोई खास प्रभाव नहीं पड़ा। congress ki kbra khodte rahul gandhi 

राहुल बाबा को राष्ट्रपति बनाने का सपना देखा है

बाबा के निर्देशानुसार राहुल गाँधी को पिछले वर्ष दो बार विदेश भेजा गया लेकिन राहुल गाँधी का मानसिक संतुलन नहीं सुधरा। आखिरकार, कांग्रेस ने पुनः वर्ष के अंत में राहुल को बाहरी हूर के दर्शन हेतु अमेरिका भेजा। सब कुछ तय कार्यक्रम के अनुसार चल रहा था। कांग्रेस यूपी में शीला के नेतृत्व में चुनाव की तैयारी कर रही थी कि तभी राहुल गाँधी विदेश से लौट आये। जब पीके ने राहुल की फिरकी लेनी चाही तो राहुल गाँधी ने कहा कि जैसे ही यूपी चुनाव आयोग ने 5 राज्यों के चुनाव के लिए बिगुल फूंका। मैं अमेरिका से भागा चला आया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेतागण ने चैन की साँस ली। congress ki kbra khodte rahul gandhi 

राहुल गाँधी पीके से रिवेंज लेने में जुट गए है।

राहुल गाँधी उसी समय बोले की जल्दी से रैली का आयोजन किया जाये मैं पीएम मोदी के खिलाफ कुछ बोलना चाहता हूँ, बहुत दिनों से कुछ नहीं बोला हूँ। पीके ने आनन-फानन में राहुल की बात मान ली लेकिन तभी कांग्रेस के एक नेता के मुँह से निकल पड़ा, पीके सर आपने जो राहुल बाबा को राष्ट्रपति बनाने का सपना देखा है वो जल्द पूरा होता दिख रहा है। देखिये राहुल बाबा अमेरिका से लौटने पर कितने कांग्रेसी हो गए है। राहुल गाँधी का उसी समय मानो दिल टूट गया। दर्द को दिल में कही छुपाकर जनवेदना रैली में शामिल हो गये। congress ki kbra khodte rahul gandhi 

राहुल गाँधी जनवेदना रैली में पीएम मोदी के खिलाफ जमकर बरसे लेकिन राहुल गाँधी उस वक्त दिल से दुखी थे। पीके की फिरकी राहुल गाँधी को समझ में आ गयी थी। पीके राहुल गाँधी को केवल मिसयूज करना चाहता है। पहले यूपी का सीएम, फिर देश का पीएम अब राष्ट्रपति पद का प्रलोभन देकर पीके राहुल गाँधी को गुमराह कर रहा है। जनवेदना रैली के सम्पन्न होने के बाद से राहुल गाँधी पीके से रिवेंज लेने में जुट गए है। इस बार राहुल गाँधी ने कांग्रेस की कब्र खोदने की बात कही है, राहुल गाँधी की माने तो वो अब कांग्रेस को कब्र में दफना कर ही छोड़ेंगे। राहुल गाँधी के इस शुभ कार्य से सभी कांग्रेसी नेता सदमे में है।  congress ki kbra khodte rahul gandhi 
( प्रवीण कुमार )