केजरीवाल ने स्वीकारा… भ्रष्टाचार kejrivaal has admitted corruption in delhi




केजरीवाल ने स्वीकारा दिल्ली में है भ्रष्टाचार और जंगलराज
वरिष्ठ संपादक नीरज कुमार,
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने पहली बार स्वीकारा है कि दिल्ली में भ्रष्टाचार और जंगलराज व्याप्त है और आप की सरकार भ्रष्टाचार को रोकने में विफल रही है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग मुझसे पूछते है कि क्यों केजरीवाल भ्रष्टाचार को रोकने में विफल रही है तो मेरा यही मत है कि हाथों की पांच उँगलियाँ एक जैसी नहीं होती है इसलिए भ्रष्टाचार को रोकने में हम सफल नहीं हुए है। केजरीवाल की बातो से तो लगता है कि केजरीवाल अब सौ चूहे खाकर बिल्ली चली हज को निति अपना रहा है इससे पहले केजरीवाल कई अहम मुद्दों पर चोर बोले जोर से नीति अपनाकर खुद को निर्दोष साबित कर लिया है लेकिन अब जबकि दिल्ली की जनता भी केजरीवाल और आप पार्टी के कार्यों से वाकिफ हो गयी है तो केजरीवाल भी अब गिरगिट की तरह रंग बदल के दिल्ली की जनता से सहानभूति पाना चाहता है पर दिल्ली की जनता अब यह जान चुकी है कि केजरीवाल ने सिर्फ अमीर बनने के लिए भ्रष्टाचार मुक्त दिल्ली बनाने का प्रचार किया किन्तु भ्रष्टाचार को कम करने के बजाय आप सरकार ने दिल्ली में भ्रष्टाचार के साथ-साथ जंगलराज भी स्थापित कर दिया अब हालात ऐसा है कि केजीरवाल अपने ही खोदे गढ्ढे में खुद को फसा हुआ देख उससे निकलने के लिए कई बयान दे रहे है जो दिल्ली की जनता के लिए अमान्य है। आप पार्टी अथवा केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से जो वादा किया उसे वादे को पूरा करना तो दूर बल्कि राज्य में आप पार्टी के कई नेताओं ने हफ्ता वसूली, घोटाले और तानाशाही व्यवस्था कायम कर दी। आप के कई विधायक महज 1 साल में अपने कलयुगी चरित्र को प्रस्तुत किया है फिर चाहे वो जीतेन्द्र सिंह हो, ओखला विधायक खान हो या फिर स्वंय केजरीवाल हो सभी ने जब मौका मिला राज्य के राजस्व को लूटने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। केजरीवाल के इस स्वीकार नामे से ये जगजाहिर हो गया है कि केजरीवाल ने अपनी चतुरता से दिल्ली को खूब लुटा है। केजीरवाल दिल्ली की जनता को बेबकूफ बनाने में कामयाब रहा है किन्तु अब केजरीवाल के सच सामने आने से देश की जनता सक्रिय हो गई है और जल्द ही केजरीवाल को इसका जबाब पंजाब की जनता आगामी पंजाब विधान सभा में जबाब देगी। केजरीवाल ने स्वीकारा… भ्रष्टाचार kejrivaal has admitted corruption in delhi