नजीब जंग के खिलाफ धरना देंगे केजरीवाल





आखिरकार, मुख्यमंत्री अरविन्द केरजरीवाल दिल्ली पहुच ही गए। अब नींद से जागे, मुख्यमंत्री केजरीवाल कल देर रात दिल्ली पहुँच कर दिल्ली की कमान संभाली। यहां पूरी दिल्ली की जनता को बीमार और बदहाल छोड़ मुख्यमंत्री और उनके मंत्री दूसरे राज्यो में होने वाले विधानसभा चुनावो की रैलियों और सैर सपाटे में व्यस्त थे अब जब पानी सर से ऊपर हो गया तब दिल्ली सरकार की आँख खुली। kejriwal returned delhi 

दरअसल, दिल्ली में बढ़ते डेंगू और चिकनगुनिया के मामलो को अब बेहद खतरनाक अंजाम तक पहुचते देख दिल्ली के मुख्यमंत्री रविवार देर रात बेंगुलुरु से दिल्ली लौटे साथ ही दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी दिल्ली पहुच कर दिल्ली की बागडोर संभाली। kejriwal returned delhi 

दिल्ली की जनता बीमारी से पस्त और आप सरकार सैर सपाटे में मस्त

अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली पहुचते ही अपना एक विडियो जारी कर बताया हैं की बेंगुलुरु में उनकी जीभ की सर्जरी हुई हैं और डॉक्टर ने अभी कुछ दिन और आराम करने की सलाह दी हैं पर दिल्ली में लगातार डेंगू और चिकनगुनिया के बढ़ते और गंभीर मामलो को देखते हुए कल दिल्ली पहुंचे। kejriwal returned delhi 

उन्होंने दिल्ली के स्वास्थय मंत्री सत्येंद्र जैन को दो दिन के अंदर पूरी दिल्ली में फोगिंग करने का आदेश दिया हैं और साथ ही पूरी दिल्ली की जनता से एकजुट होने की भी अपील की हैं उन्होंने कहा हैं की जैसे इंडिया और पाकिस्तान के क्रिकेट मैच के दौरान इंडिया की सारी जनता एकजुट हो जाती हैं इसी प्रकार डेंगू के खिलाफ इस जंग में पुरे दिल्ली वालो को एक साथ होना पड़ेगा। kejriwal returned delhi 

नजीब जंग के खिलाफ धरना देंगे

हालांकि, केजरीवाल की बयानबाजी कभी खत्म नहीं होती है, दो दिन पूर्व ही जब वो पंजाब में जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। जब जनसभा खत्म हुई तो कई पत्रकारों ने उनसे पूछा कि दिल्ली में डेंगू और चिकनगुनिया से लोग बेहाल है। ऐसे में आपका चुनावी दौरा और जनसभा में उपस्थित रहना, किस हद तक उचित है ? इस सवाल पर पर प्रतिकिया देते हुए उन्होंने कहा कि पीएम मोदी जी और नजीब जंग से पूछिये कि कैसे दिल्ली में डेंगू और चिकनगुनिया पर काबू पाया जा सकता है। सत्ता तो उन्ही के हाथ में है। kejriwal returned delhi 

वैसे केजरीवाल ये बयान बाजी कर बच निकले थे किन्तु उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का फ़िनलैंड जाना, केजरीवाल के लिए मुसीबत बन गया। ऐसे में केजरीवाल बंगलुरु में बिना बेड रेस्ट के भाग-भागा दिल्ली आ पहुंचे। अब तो एक चीज़ साफ़ जाहिर है कि यदि दिल्ली सरकार डेंगू और चिकनगुनिया महामारी को नियंत्रित नहीं कर पायेगी तो केजरीवाल का अगला बयान यही आएगा कि वो नजीब जंग के खिलाफ धरना देंगे।  kejriwal returned delhi 

( सलोनी पांडेय )