बिना किताबी कीड़ा बने मोदी जी देश के पीएम बन गए है : केजरीवाल





दिल्ली के मुख्यमंत्री ने छात्रों को नसीहत दी है कि वे किताबी कीड़ा न बने। उन्हें व्यवहारिक बनने की जरूरत है। सरकारी स्कूलों में ऐसी ही व्यवस्था की गई है जिससे लोग अब यहां नामांकन के लिए तेजी से आ रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सरकारी स्कूलों की स्थिति में क्रांतिकारी सुधार पर बोलते हुए कहा है कि पहले जहां माता पिता सरकारी स्कूलों में पढ़ाने से हिचकिचाते थे, लेकिन अब नजरीया ही बदल गया है। दिल्ली सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन लाया है। जिस प्रकार से सरकारी स्कूलों के बच्चों ने इंजिनियरिंग के परीक्षा में उतीर्ण किया है वह काफी कुछ कहता है। आज बच्चों में आत्मविश्वास आया है। kitabi kida mat bano 

त्यागराज स्टेडियम में कार्यक्रम रखा गया था

अरविंद केजरीवाल ने सरकारी स्कूलों में पढ़कर जईई क्वालिफाई करने वाले छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि आज छात्रों को व्यवाहारिक बनने की जरूरत है। अरविंद केजरीवाल ने छात्रों को उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि आज मैं जो कुछ भी हूं उसके अंदर नब्बे फीसदी आईआईटी खड़गपुर में मेरी पढ़ाई का योगदान है। kitabi kida mat bano 

आप ही सरकारी स्कूलों के ब्रांड एंबेसडर हैं

छात्रों को किताबी कीड़ा बनने की जरूरत नहीं है। आज छात्रों को ज्यादा से ज्यादा समाज में योगदान करने की जरूरत है। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज बेहतर व्यक्तित्व विकास पर ध्यान देने की जरूरत है। छात्रों को देश के विकास में खास योगदान देने की जरूरत है। अपनी कमाई का हिस्सा देश को देने की जरूरत है। kitabi kida mat bano 

नवाज़ मियां शरीफ़ बन कर जिओ नहीं तो शरीफ़ा बना दिये जाओगे : कुमार विश्वास

उन्होंने कहा कि आज स्कूलों को चलाने के लिए गरीब से गरीब आदमी टैक्स देता है। इसी टैक्स के पैसे से आपकी पढ़ाई होती है। इसलिए देश को नहीं भूलना चाहिए। आप ही सरकारी स्कूलों के ब्रांड एंबेसडर हैं। अगर आप अच्छा करेंगे तो और माता पिता सरकारी स्कूलों में नामांकन के लिए उत्साहित होंगे। गौरतलब है कि दिल्ली के सरकारी स्कूल से जेईई में 372 छात्र क्वालीफाई किए हैं जिन्हें सम्मानित करने के लिए त्यागराज स्टेडियम में कार्यक्रम रखा गया था। kitabi kida mat bano