जानिए मीरा कुमार जी की जीवनी




पूर्व लोकसभा अध्यक्ष और पांच बार संसद सदस्य रहीं मीरा कुमार को विपक्षी दलों द्वारा संयुक्त रूप से राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार घोषित किया गया है। मीरा कुमार का जन्म 31 मार्च 1945 को बिहार के आरा जिले में हुआ है। इनके पिता पूर्व उपप्रधानमंत्री एवं प्रमुख दलित नेता बाबू जगजीवन राम और माता स्वतंत्रता सेनानी इंद्राणी देवी थी। know meira kumar life story 

उनकी वाक शैली बहुत ही विनम्र है

इनके पति मंजुल कुमार सर्वोच्च न्यायालय के वकील हैं। इनके एक बेटा और दो बेटियां हैं। बेटा अंशुल कुमार हैं। बेटी देवांगना कुमार और स्वाति कुमार हैं। इन्होंने दिल्ली के इंद्रप्रस्थ कॉलेज और मिरांडा हाउस से अंग्रेजी साहित्य से एमए और एलएलबी किया है। इन्होंने स्पेनिश में डिप्लोमा किया है। इन्हें वनस्थली विद्यापीठ से मानद डॉक्टरेट की उपाधि भी मिली है। know meira kumar life story 

मीरा कुमार 1973 में भारतीय विदेश सेवा के लिए सिलेक्ट हुई। विदेश में विभिन्न भारतीय मिशनों और विदेश मंत्रालय में कार्य किया। 1985 में चुनावी राजनीति में प्रवेश करने के लिए आईएफएस छोड़ा और उत्तर प्रदेश में बिजनौर से लोकसभा का चुनाव जीता। know meira kumar life story 

मीरा कुमार 1990 में कांग्रेस पार्टी की कार्यकारिणी की सदस्य बनी और अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की महासचिव भी चुनी गईं। वे दूसरी बात सांसद बनी वर्ष 1996 में और संसद में तीसरी पारी उन्होंने 1998 में शुरू की। वर्ष 2004 में बिहार के सासाराम से लोकसभा के लिए उनका चयन हुआ। know meira kumar life story 

यानी मीरा कुमार 8वीं, 11वीं, 12वीं, 14 वीं और 15 वीं लोकसभा के लिए चुनी गई। 2004-09 तक कैबिनेट मंत्री के रूप में सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री पद पर रही। 2009 में जल संसाधन मंत्री भी रही। 2009-14 तक 15 वीं लोकसभा में स्पीकर रही। know meira kumar life story 

जानिए राम नाथ कोविंद जी की जीवनी

मीरा कुमार को देश की पहली महिला स्पीकर होने का गौरव हासिल है। मीरा कुमार अपने सौम्य एवं शांत स्वभाव के लिए जानी जाती हैं। उनकी वाक शैली बहुत ही विनम्र है। मीरा कुमार को भारतीय इतिहास के साथ साथ कला एवं साहित्य से विशेष लगाव है। इसके अलावा भारतीय शास्त्रीय संगीत, नृत्य, राइफल, शूटिंग और अश्वारोहण में उनकी विशेष रूचि है। know meira kumar life story