जानिए क्या है नीरव मोदी और PNB के फर्जीवाड़े की पूरी कहानी




PNB ने 29 जनवरी 2018 को पंजाब नैशनल बैंक के जरिए हुए महाफर्जीवाड़े की शिकायत सीबीआई से की थी। इस शिकायत के बाद सीबीआई ने अगले दिन से आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू कर दी। उस समय PNB से 280 करोड़ रुपये की गड़बड़ी का पता चला था लेकिन 14 फरवरी को पता चला कि PNB से नीरव मोदी और एक जूलरी कंपनी ने महाफर्जीवाड़े के जरिए 11,300 करोड़ का गबन किया। इस मद्देनजर PNB ने नीरव मोदी और एक जूलरी कंपनी के खिलाफ 2 और शिकायत दर्ज कराई। PNB द्वारा दर्ज कराए गए शिकायत में जिन अहम बातों का जिक्र है, उसे हम प्रस्तुत कर रहे है। आइये जानते है, शिकायत की कुछ मुख्य बातें। know pnb scam neerav modi 

1 मुंबई स्थित पंजाब नैशनल बैंक के जोनल ऑफिस के डेप्युटी जनरल मैनेजर अवनीश नेपलिया ने 29 जनवरी 2018 को लिखित रूप में सीबीआई से फर्जीवाड़े की शिकायत की। इसमें शिकायत की गई कि पीएनबी के मिड कॉर्पोरेट ब्रांच ने फर्जी तरीके से लेटर्स ऑफ अंडरटेकिंग्स जारी किए। know pnb scam neerav modi 

2. लेटर्स ऑफ अंडरटेकिंग्स जारी करने का फर्जीवाड़ा सोलर एक्सपोर्ट्स और स्टेलर डायमंड्स से किया गया। इन कंपनियों के पार्टनर्स नीरव मोदी, निशाल मोदी, अमी नीरव मोदी, मेहुल चिनुभाई चौकसी है। know pnb scam neerav modi

3. 16 जनवरी 2018 को इन कंपनियों ने बैंक से संपर्क करके कुछ दस्तावेज पेश किए। जिसमें क्रेडिट लिमिट को बढ़ाने का अनुरोध किया गया। इसी समय फर्जीवाड़े की शुरुवात हुई। know pnb scam neerav modi 

जो काम मैंने तीन साल में कर दिए पीएम मोदी पूरी ज़िंदगी में नहीं कर पाए : केजरीवाल

4. बैंक ने कंपनियों की क्रेडिट लिमिट स्वीकृत नहीं की थी। उस समय बैंक ब्रांच अधिकारीयों ने कंपनियों ने कम-से-कम 100% कैश मार्जिन मुहैया कराएं तब कंपिनयों की क्रेडिट बढ़ाई जा सकेगी। बैंक ब्रांच के जबाब में कंपनियों ने कहा इस तरह की सुविधा बैंक ने पहले दी थी। हालाँकि, बैंक रिकॉर्ड में इसका वर्णन नहीं है। know pnb scam neerav modi 

इलाहबाद बैंक और ऐक्सिस बैंक

5. जब इस मामले की जाँच की गई तो पता चला कि बैंक ब्रांच के डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी और हनुमंत खरात ने बैंक के मानकों का उल्लंघन करते हुए 9 फरवरी 2017 को डायमंड आर यूएस और सोलर एक्सपोर्ट्स को 415791.96 डॉलर और 4335391.38 डॉलर के लिए LOUs जारी कर दिए थे और इसकी एंट्री बैंक डिटेल में नहीं की थी। जिस कारण इस फर्जी ट्रांजैक्शं का पता नहीं चल पाया। बता दें, बैंक ब्रांच के डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी 31 मई 2017 को रिटायर हुए है। know pnb scam neerav modi 

6. इसके अगले दिन ही बैंक ब्रांच के डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी और हनुमंत खरात ने डायमंड आर यूएस, सोलर एक्सपोर्ट्स और स्टेलर डायमंड्स के पक्ष में क्रमशः 5942017.70 डॉलर, 5843161.93 डॉलर और 6093321.10 डॉलर के लिए तीन LOUs जारी कर दिए।

280.70 करोड़ रुपये का महाफर्जीवाड़ा किया है

7. वही 14 फरवरी 2017 को फिर से इन्हीं कंपनियों को क्रमशः 5856885 डॉलर, 5862251.03 डॉलर और 5877064 डॉलर के लिए तीन LOUs जारी किए गए ।

8. लेटर्स ऑफ अंडरटेकिंग्स के अनुसार इलाहाबाद की हॉन्ग कॉन्ग स्थित शाखा को 25.01.2018 तक पैसे पीएनबी से मिल जाने थे। जबकि 14 फरवरी 2017 को जारी LOUs के तहत हॉन्ग कॉन्ग स्थित ऐक्सिस बैंक की शाखा को पैसे मिलने थे।

9. इस तरह से बैंक ब्रांच के डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी और हनुमंत खरात और कंपनियों की मिलीभगत से कुल 8 LOUs फर्जीवाड़े से जारी कर दिए। जो 63.47 रुपये प्रति डॉलर के नैशनल एक्सचेंज रेट से 2 अरब 80 करोड़ 70 लाख 12 हजार 293 रुपये 98 पैसे होती है।

10. इससे स्पष्ट हो चूका है कि गोकुलनाथ शेट्टी और मनोज हनुमंत खरात ने नीरव मोदी, निशाल मोदी, अमी नीरव मोदी और मेहुल चिनुभाई चौकसी ने मिलकर पीएनबी, इलाहबाद बैंक और ऐक्सिस बैंक के साथ 280.70 करोड़ रुपये का महाफर्जीवाड़ा किया है। know pnb scam neerav modi 

मात्र 2 मिनट में पेट की गैस, एसिडिटी से छुटकारा