कुलभूषण जाधव की हत्या हुई तो पाकिस्तान की खैर नहीं : भारत




कुलभूषण जाधव की पाकिस्तान में मर्डर की सजा सुनाई गई इसको लेकर भारत पाक के बीच तनातनी हो गई है। भारत ने पाक को सीधे तौर पर चेतावनी दी है। पाकिस्तान की मिलिट्री कोर्ट ने कथित जासूसी के आरोप में घिरे कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाई है जिसको लेकर भारत ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। kulbhshan yadav ko marne nahi denge 

भारत ने साफ कहा है कि यह मर्डर होगा। भारत ने तत्काल रूप से रिहाई होने वाले पाकिस्तानी कैदी पर रोक लगा दी है। भारत ने सीधे तौर पाकिस्तान को चेतावनी दी है कि जाधव को फांसी न दे। जब पुख्ता सबूत नहीं हैं तो आखिर फांसी क्यों। kulbhshan yadav ko marne nahi denge 

जाधव को फांसी दी गई तो मर्डर माना जाएगा

गौरतलब है कि पहले पाक साफ कर चुका है कि जाधव के खिलाफ पुख्ता सबूत नहीं हैं। लेकिन जो भी सबूत हैं वह लोगों के बयान के आधार पर हैं। फिर भी पाक मिलिट्री कोर्ट ने गुपचुप तरीके से की गई कार्रवाई में जाधव की जासूसी का आरोप जड़ा है। जिसके आधार पर फांसी की सजा सुनाई गई है। kulbhshan yadav ko marne nahi denge 

भारत ने दिल्ली में पाकिस्तान के हाई कमिश्नर को तलबकर अपना विरोध दर्ज कर दिया है अगर फांसी हुई तो यह मर्डर होगा। पाकिस्तान सरकार को तुरंत रुप से इसपर रोक लगानी चाहिए। जब आरोप साबित नहीं हुए हैं तो कैसे आप किसी को फांसी की सजा दे सकते हैं। केवल और केवल भारत से दुश्मनी के आधार बनाकर जाधव को दोषी ठहराया जा रहा है। जाधव के खिलाफ कोई पुख्ता सबूत नहीं हैं ऐसे में उन्हें दोषी ठहरा कर फांसी देने का कहीं से भी उचित नहीं होगा। kulbhshan yadav ko marne nahi denge 

उठो, जागो और भारतीय सेना को मार भगाओ : फारूख अब्दुल्ला

अगर पाकिस्तान ऐसा करता है तो यह ठीक नहीं होगा। यह सीधे तौर पर मर्डर होगा। जिस पर भारत भी कदम उठा सकता है। पाकिस्तान भारतीय कैदियों के साथ कभी भी उचित व्यवहार नहीं करता है जिसकी शिकायत बार बार मिलती रहती है। ऐसे में जाधव को फांसी दी गई तो यह सोचा समझा किया गया मर्डर माना जाएगा। जिसकी कीमत पाकिस्तान को भी देनी होगी। kulbhshan yadav ko marne nahi denge