कुमार विश्वास मेरा छोटा भाई है वो मुझे धोखा नहीं दे सकता है : केजरीवाल




दिल्ली नगर निकाय चुनाव के बाद से आप पार्टी में जो कलह पैदा हुई है वो थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक के बाद एक खुलासे हो रहे है। जिससे आप सुप्रीमो श्री केजरवाल के पैरो तले जमीन खिसक गयी है। ताज़ा मामला आप विधायक अमानतुल्ला खान के व्हाट्स मैसेज से है। जिसमें खान ने पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विशवास पर आरोप लगाया है कि वो पार्टी तोड़ने की साजिश रच रहे है। उन्होंने कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि कुमार कुछ विधायकों से 30-30 करोड़ रुपये के बदले भाजपा में शामिल होने के लिए कहा है। kumar vishwas will join bjp 

मोदी जी गुरु समान है अब हम उनकी राह चलेंगे : केजरीवाल

खान ने व्हाट्स मैसेज के जरिये पार्टी को इत्तला किया है कि कुमार ये सब बीजेपी के इशारों पर कर रहे है। इसके लिए कुमार को बीजेपी की तरफ से पेशकश मिली है। खान ने कहा कुमार ने कुछ विधायकों को अपने घर पर बुलाया और उनसे कहा उन्हें पार्टी का संयोजक बनाया जाना चाहिए।” kumar vishwas will join bjp 

कुमार विश्वास मेरा छोटा भाई है।

यदि ऐसा नहीं होता है तो उनके पास दूसरा विकल्प है। जिसके लिए उन्हें बीजेपी की तरह से एक विधायक के 30 करोड़ मिल रहे है। यदि आप मेरा साथ दें तो मैं आप का संयोजक बन पाउँगा। यदि केजरीवाल मेरे प्रस्ताव को ठुकराते है तो हम लोग बीजेपी में शामिल हो जायेंगे। ओखला के विधायक ने कहा यह सब बीजेपी करवा रही है और इसकी जिम्मेवारी कुमार विश्वास को सौपी गयी है। आप के चारों विधायकों ने एक अनाम मंत्री के आवास पर कुमार विश्वास के साथ बैठक की। kumar vishwas will join bjp 

गौरतलब है कि दिल्ली नगर निकाय चुनाव के बाद कुमार विश्वास ने केजरीवाल को आड़े हाथों लेते हुए कहा था कि वो आप के खराब प्रदर्शन के बाद अपने नेतृत्व परिवर्तन पर विचार करने में नहीं हिचकेंगे। ईवीएम को दोष देना गलत है, क्योंकि जनता में पार्टी को लेकर अविश्वास है। kumar vishwas will join bjp 

में धोखा नहीं दे सकते है

वही कुमार विश्वास के साथ चल रहे अनबन के बीच आप सुप्रीमो और दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरवाल ने ट्वीट कर कहा कि कुछ लोग मेरे और विश्वास के बीच गलतफहमी पैदा करना चाहते है। पार्टी के सभी लोगों को सावधान और चौकन्ना रहने की जरुरत है। उन्होंने कहा ” कुमार विश्वास मेरा छोटा भाई है। वो हमें धोखा नहीं दे सकते है और न ही हम कभी अलग होंगे।  kumar vishwas will join bjp 

( प्रवीण कुमार )