मोदी कुछ भी कर लें हम मोहन भागवत को राष्ट्रपति बनने नहीं देंगे : लालू यादव




बाबरी मस्जिद केस के उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद राजनीति में हलचल पैदा हो गई है। विपक्ष जहां इस फैसले का स्वागत कर रही है वहीं कई नेता चुटकी लेने से बाज नहीं आ रहे हैं। राजद सुप्रीमो व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने बाबरी केस पर उच्चतम न्यायालय के फैसले पर कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ी चालाकी से लालकृष्ण आडवाणी का राष्ट्रपति से पत्ता साफ कर दिया है। lalu slams advani

जिस प्रकार से उच्चतम न्यायालय में सीबीआई ने अर्जी दी जिसके बाद से भाजपा के बड़े नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरलीमनोहर जोशी और अन्य नेताओं पर आपराधिक मामले चलाने को कहा है इससे साफ हो गया है कि अब नरेंद्र मोदी यही चाहते थे। सीबीआई प्रधानमंत्री की हाथ की कटपुतली है। lalu slams advani

आडवाणी राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव नहीं लड़ सकते हैं

यादव ने साफ तौर पर कहा है कि जिस प्रकार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लालकृष्ण आडवाणी को रास्ते से हटाने चाहते है ताकि अब आरएसएस सर संघचालक मोहन भागवत का रास्ता साफ कर दिया जाए यानी राष्ट्रपति का उम्मीदवार अब यही होंगे। इनके रास्ते से आडवाणी को हटा दिया गया है। lalu slams advani

गौरतलब है कि जून के अंतिम सप्ताह में राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। जिसके लिए विपक्ष एकजुट हो रहा है वहीं भाजपा को भी अपने उम्मीदवार तय करने हैं। मोहन भागवत का नाम राष्ट्रपति पद के लिए सबसे तेज चल रहा है। जिस प्रकार से मोहन भागवत की अन्य दलों में स्वीकृति है इससे तो यही लग रहा है कि संघ इसके लिए दवाब भी बना रहा है। lalu slams advani

शरद यादव बनेंगे देश के अगले राष्ट्रपति : कांग्रेस

वहीं लालकृष्ण आडवाणी भाजपा के मार्गदर्शक मंडल में हैं जो पहले भी कह चुके हैं कि वे राष्ट्रपति के दौड़ में नहीं हैं। लेकिन कयास यह लगाया जा रहा था कि लालकृष्ण आडवाणी इस दौड़ में शामिल हैं। लेकिन अब जिस प्रकार से उच्चतम न्यायालय ने आपराधिक मामले दर्ज कर मुकदमा को आगे बढ़ाने के आदेश दिए हैं जिससे अब आडवाणी राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव नहीं लड़ सकते हैं। lalu slams advani