मैं शराबी जरूर हूँ पर राशन कार्ड धारी नहीं हूँ : भगवत मान




आम आदमी पार्टी के सांसद भगवत मान आए दिन अपने करतूत से मीडिया में छाए रहे हैं। कभी शराब के लत के कारण तो कभी संसद में फोटोग्राफी को लेकर। शराब पीने के लत के कारण इनके विरोधी इनपर कई आरोप लगा रहे हैं। स्टैंड अप कमेडिनयन व सांसद भगवत मान विवादों से घिरे रहते हैं। जब से प्रदेश की कमान थामी है इनके विरोधी पार्टी तक छोड़ दी और कई तरह के आरोप भी जड़े हैं। main kisi ka khoon nahi pita hun 

भगवत मान नशे में रहते हैं।

भगवत मान लगातार मीडिया में भी छाए रहते हैं खासकर इनके विरोधी इनके पीने को लेकर एतराज करते रहे हैं। भगवत मान पर शराब की लत सुधारने को लेकर अपनी सफाई दे दी है कि विरोधियों को जब मेरे ऊपर कोई चार्ज नहीं मिला तो साफ तौर पर वह शराब पीने पर ऐतराज करने लगे। भगवत मान ने कहा है कि अब तो मेरे विरोधी कहने लगे हैं कि मैं क्या खाता हूं क्या पीता हूं। यह कोई मसला है क्या यह पंजाब का मसला है। कम से कम मैं इनकी तरह जनता का खून तो नहीं पीता। main kisi ka khoon nahi pita hun 

जनता का खून तो नहीं पीता

क्या मेरे ऊपर जनता के पैसे के भ्रष्टाचार के आरोप हैं नहीं हैं ना। तो फिर विरोधी हमारे खाने पीने पर ऐतराज करते हैं। मैं क्या खाता या पीता हूं यह निजी जिंदगी का मसला है। पंजाब के मसले इससे बड़े हैं। मेरे विरोधी पंजाब के मसले को दाब कर मेरे ऊपर निजी हमले करते रहे हैं। जबकि मेरी लोकप्रियता युवाओं में काफी है जिससे वे डर जाते हैं। main kisi ka khoon nahi pita hun 

मोदी रासलीला में मस्त है और जनता महंगाई से त्रस्त है : राहुल गाँधी

मैं सबसे ज्यादा वोटो से जीत कर लोकसभा सांसद बना। मेरे खिलाफ परसेप्शन बनाकर साजिश की जा रही है। गौरतलब है कि पंजाब में विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को आशातीत सफलता हासिल नहीं हुई जिसके बाद आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल ने प्रदेश की कमान भगवत मान को दे दिया है लेकिन इनके अध्यक्ष बनते ही कई वरिष्ठ नेता ने यह कहकर पार्टी को बाय बाय कर दिया कि भगवत मान नशे में रहते हैं।  main kisi ka khoon nahi pita hun