नए साल में होगी माल्या के प्रत्यर्पण मामले पर सुनवाई





भारत के भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाव प्रत्यर्पण को लेकर दो हफ्ते तक होने वाली सुनवाई ब्रिटिश कोर्ट में अब दिसंबर से होगी। वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत को बताया गया की भारत सरकार ने मुकदमे से जुड़े सारे दस्तावेज जमा कर दिए है और क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस(सीपीएस) ने इसकी भी पूरी कर ली है। इसी जानकारी पर अदालत ने सुनवाई की तारीख 4 दिसंबर तय कर दी है।सीपीएस को जुलाई के आखिर तक चीफ मैजिस्ट्रेट एमा अर्बथनट ने सभी 2,000 पन्नों के सबूतों की जांच करने के आदेश कर दिया है। माल्या के पक्षीय वकील कहा बेन वाटसन ने कहा, ‘हमारे पास अब 2,000 से ज्यादा पन्नों का दस्तावेज है।अभी यह अच्छी तरह से स्पष्ट नहीं है कि क्या ये सारे दस्तावेज काम के हैं। अगर हमें इस महीने के आखिर तक एक ओपनिंग नोट हाथ लग जाए तो हमें बड़ी मदद मिल जाएगी। Mallya New year Hearing





वाटसन ने कोर्ट को बताया की ‘हमें उन साक्ष्यों का और गहन विश्लेषण करने की जरूरत है जिन पर वो प्रत्यर्पण मामले में कानूनी पड़तालों के लिए भरोसा जता रहे हैं, खासकर सेक्शन 84 (प्रत्यर्पण अधिनियम 2003) के लिए।’ सेक्शन 84 के तहत जज निर्णय लेता है कि मौजूदा सबूत मुकदमे चलाने की दृष्टि से पर्याप्त हैं। यदि ऐसा न हो जो जज को आरोप से मुक्त करने का फैसला देना होता हैं।यहाँ, भारत की तरफ से सीपीएस का प्रतिनिधित्व कर रहे मार्क समर्स का कहना है की उन्हें इंडियन ओथोटीएस से शानदार सहयोग मिला हैं। उन्होंने कहा प्रथम दृष्टया आरोप गठित करने के लिए जरूरी तथ्य सौंप दिए हैं और सीपीएस ने इनकी जांच भीकर ली प्रथम दृष्टया आरोप गठित करने के लिए जरूरी तथ्य सौंप दिए हैं और सीपीएस ने इनकी जांच भी कर ली हैं। उन्होंने कहा, ‘इस तरफ से हम तैयार हैं और बहस करना चाहते हैं। हम कोर्ट से प्रत्यर्पण पर सुनवाई की अनुकूल तारीख जल्द-से-जल्द तय करने का आग्रह करते हैं। Mallya New year Hearing

इससे पहले की 13 जून की सुनवाई में कोर्ट ने माल्या 4 दिसंबर तक जमानत दे दी थी। भारत की और से सबूत मुहैया कराये जाने में देरी को देखते हुए चीफ मैजिस्ट्रेट एमा अर्बथनट ने मामले की सुनवाई को सुनवाई दो सप्ताह बाद 6 जुलाई तय कर दिया था। गुरुवार को हुयी सुनवाई में माल्या ने कोर्ट में पहुंच कर सबको हैरत में डाल दिया। नीले ब्लेजर और भूरे ट्राउज़र्स और सादे शर्ट में माल्या थोड़े तनाव में दिखाई दिए,वह कोर्ट तो पहुंचे थे,परन्तु उन्होंने सुनवाई नहीं सुनी।

loading…


अनचाहे बाल हटाने के लिए ये उपाय नहीं की होगी आपने