पीएम मोदी फेकू है वो देश को सुधारना नहीं बल्कि हथियाना चाहते है : ममता बनर्जी




एक देश, एक कर और एक बाजार की अवधारणा से वस्तु एवं सेवा कर कानून यानी जीएसटी देशभर में लागू कर दिया गया है। 30 जून की रात के 12 बजे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेल (घंटी) बजाकर इसे लॉन्च किया।जीएसटी की लॉन्चिंग के मौके पर संसद के सेंट्रल हॉल में तमाम गणमान्य लोग मौजूद थे। इस कार्यक्रम की शुरूआत केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के संबोधन से हुई। इस खास कार्यक्रम में विपक्ष में कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस जैसी पार्टियां ने शामिल नहीं हुई। तृणमूल कांग्रेस का कहना है कि सरकार फिर से लाइसेंसिग राज की ओर आगे बढ़ गई है। mamta slam pm modi gst

mamta slam pm modi gst ताली बजाने मात्र के लिए वहां जाना उचित नहीं है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने जीएसटी का विरोध करते हुए कहा कि जीएसटी के लागू हो जाने के बाद एक बार फिर से इंस्पेक्टर राज की वापसी शुरू हो जाएगी। ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार की मंशा पर कहा कि सरकार अपने पक्ष में कार्य करने को तो छूट देगी जो सरकार इसी के बहाने ऐसे व्यापारियों को टारगेट करेगी, जो सरकार के किसी कानून, पॉलिसी या फिर नियम का विरोध करेगी। गौरतलब है कि ममता बनर्जी राजग के किसी भी तरह के किए गए आर्थिक सुधार का कभी समर्थन नहीं किया है तो यह भी तय था कि जीएसटी लागू होने के कार्यक्रम में भी उनका विरोध रहेगा। mamta slam pm modi gst 

ममता बनर्जी इसी बहाने भाजपा को घेरने की कोशिश की है। पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री अमित मित्रा जीएसटी कांउसिंल के अध्यक्ष रहे हैं लेकिन उन्होंने भी आने से इंकार कर दिया उनका कहना है कि अभी देश जीएसटी के लिए तैयार नहीं है सरकार ने पूरी तैयारी नहीं कि आखिर ऐसे में ताली बजाने मात्र के लिए वहां जाना उचित नहीं है। mamta slam pm modi gst 

हिन्दुओं सुधर जाओ नहीं तो भारत के सौ टुकड़े कर दूंगा : ओवैसी

गौरतलब है कि सरकार की ओर से विपक्षी दलों से बार बार अनुरोध किया गया कि वे इस कार्यक्रम में शामिल हो यह कोई पार्टी का कार्यक्रम नहीं है। विपक्ष देश पुनः निर्माण से अपने आप को दूर कर रही है लेकिन विपक्ष में तृणमूल कांग्रेस सहित कई दल ने इस खास कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया।

loading…


आलू फिंगर बनाने का तरीका