योगी, सरकारी पैसों को पानी की तरह बहा रहे है : मायावती




राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर डिनर डिप्लोमेसी अभी चल रही है। जिसमें भाजपा भी शामिल है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के सम्मान में दावत दी। इस दावत को माना जा रहा है कि डिनर डिप्लोमेसी थी जिससे की विरोधियों को राष्ट्रपति चुनाव में तोड़ा जा सके। mayawati spending govt money 

भाजपा ने दलित उम्मीदवार राष्ट्रपति चुनाव के लिए खड़े किए हैं

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने निवास स्थान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सम्मान में दावत दी। जिसमें सपा, बसपा, कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को आमंत्रित किया गया। लेकिन इस दावत में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती शामिल नहीं हुई। मुलायम सिंह यादव इस दावत में खास तौर पर शामिल हुए। mayawati spending govt money 

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर लखनऊ में योग किया। जिसमें उन्होंने लोगों से अपील की कि आप नमक की तरह योग को अपनाएं। योग आदित्यनाथ ने जिस तरह से दावत में सभी नेताओं को आमंत्रित किया इससे तो यह निष्कर्ष निकाला जा रहा है कि राष्ट्रपति के चुनाव के मद्देनजर विरोधियों को अपने पक्ष में करने के लिए यह सब किया गया। mayawati spending govt money 

 रामनाथ कोविंद

इस खास दावत में मुलायम सिंह यादव शामिल हुए। योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में भी मुलायम सिंह यादव को विशेष सम्मान दिया था। इससे साफ हो गया कि मुलायम सिंह यादव का राष्ट्रपति चुनाव में समर्थन हासिल हो गया है एनडीए को। mayawati spending govt money 

वहीं अखिलेश यादव और मायावती इसके पहले सोनिया गांधी द्वारा दिए गए भोज में शामिल हुए थे। मायावती कांग्रेस को यह कह चुकी हैं कि जिस प्रकार से भाजपा ने दलित उम्मीदवार राष्ट्रपति चुनाव के लिए खड़े किए हैं। mayawati spending govt money 

मुलायम सिंह हो सकते है देश के अगले रेल मंत्री !

अगर वे इनसे बेहतर और मजबूत दलित खड़े करते हैं तब तो कांग्रेस के साथ होंगे नहीं तो एनडीए को समर्थन करेंगे। साफ है कांग्रेस के लिए बड़ा झटका है क्योंकि दूसरी ओर जदयू अध्यक्ष व बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ कह दिया है कि उनका समर्थन रामनाथ कोविंद को है। mayawati spending govt money