अब कैसे 2019 में देश का प्रधानमंत्री बनूँगा : राहुल गाँधी




एग्जिट पोल के आने के बाद से राजनैतिक हलचल तेज हो गयी है। कल दिए गए इंटरव्यू में सपा नेता श्री अखिलेश यादव ने संकेत किया। यदि त्रिशंकु सरकार की सम्भावना बनती है तो बुआ से मदद लेने में कोई गुरेज नहीं है। क्योंकि राज्य में राष्ट्रपति शासन लागु करने से बेहतर राज्य में त्रिशंकु बनाना होगा क्योंकि राष्ट्रपति लागु होने पर बीजेपी रिमोट के जरिये शासन करेगी। हमें साम्प्रदायिक तत्वों को रोकने के लिए सभी धार्मिक पार्टियों को एकजुट होना पड़ेगा। बीजेपी एक अभिशाप है जो देश को निगल जाएगा।  पीएम मोदी को रोकने के लिए बुआ मायावती से मदद लेने में कोई गुरेज नहीं है : राहुल गाँधी mayawati will help 

2019 में पीएम बनने का सपना भी टूट गया है

वही कांग्रेस उपाध्यक्ष श्री राहुल गाँधी ने ट्विटर पर हैंडल पर ट्वीट कर कहा, एग्जिट पोल झूठी है। इससे पहले भी बिहार में इसी तरह का एग्जिट पोल रिजल्ट जारी किया गया था लेकिन क्या हुआ। बिहार में महागठबंधन विजयी हुई। ठीक उसी प्रकार यूपी में गठबंधन की सरकार जीत रही है। ये न्यूज़ कल सभी चैनल वाले दिखाएंगे। mayawati will help

हालांकि, कांग्रेस उपाध्यक्ष श्री राहुल गाँधी मीडिया के समक्ष बड़ी बड़ी बाते कर रहे है। सपा और कांग्रेस जीत रही है लेकिन हकीकत में वो हार को लेकर आश्वस्त हो चुके है  और अब उन्हें डर भी सताने लगा है। यदि इसी तरह मोदी लहर रहा तो उनका 2019 में देश का प्रधानमंत्री बनने का सपना भी अधूरा रह जाएगा। इससे पूर्व भी यूपी के कांग्रेस सीएम उम्मीदवार को लेकर काफी खीचतान के बाद शीला दीक्षित को कांग्रेस का सीएम उम्मीदवार बनाया गया था। उस वक्त कांग्रेस के रणनीतिकार पीके ( प्रशांत किशोर ) ने राहुल गाँधी का नाम सुझाया था। जिसे राहुल गाँधी ने पीएम गद्दी के कारण ठुकरा दिया था। अब जबकि एग्जिट पोल में बीजेपी लहर की बात की गयी  है तो राहुल गाँधी असमंजस में पड़ गए है कि वो यूपी के सीएम तो बने नहीं, अब 2019 में पीएम बनने का सपना भी टूट गया है। mayawati will help 

यदि चुनाव हारा तो राजनीति से सन्यास ले लूंगा : अखिलेश यादव

जबकि सपा के प्रवक्ता रामगोपाल ने कहा कि मेरे पास पर्याप्त सुचना है। बीजेपी ने पैसे के दम पर एग्जिट पोल को अपने पक्ष में दिखवाया है। पोल पूरी तरह से फर्जी है। ओरिजिनल पोल रिजल्ट को बदल दिया गया है। हालाँकि, रामगोपाल ने सपा के नेता अखिलेश यादव के मायावती के गठबंधन बयान पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। सपा के ही आजम खान ने भी मीडिया को आड़े हाथों लेते हुए कहा, भारतीय मीडिया गुलाम हो चुकी है। पीएम मोदी के इशारों पर सच को झूठ में बदल कर दिखाती है। सपा चुनाव जीत रही है। mayawati will help 

( प्रवीण कुमार )