60 साल राज करने वाले पूछे रहे है कब आएंगे अच्छे दिन : नितिन गडकरी





मोदी सरकार के अच्छे दिन को लेकर देश भर में चर्चा हो रही है, विपक्षियों के द्वारा मोदी सरकार को अच्छे दिन को लेकर बार बार घेरा जा रहा है। हर मौके पर मोदी से एक ही सवाल किये जाते है कि कब आएंगे अच्छे दिन। इस मुद्दे को लेकर अब मोदी सरकार के हर केंद्रीय मंत्री को भी सवालों का जबाब देना होता है। इसी क्रम में कल सड़क एवम परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि अच्छे दिन हमारे गले में अटक गए है। modi govt achche din 

उन्होंने कहा कि ये तो मनमोहन सिंह सरकार की देन है जिसका जबाब हमें देना पड़ता है। आप की इच्छाएं कभी खत्म नहीं होती है। जब आपके पास कुछ नहीं होता है तो आप कुछ की उम्मीद करते है। जब कुछ आपके पास होता है तो और पाने की इच्छा जग जाती है। modi govt achche din 

अब है अच्छे दिन modi govt achche din 

गडकरी जी ने यह भी कहा की अगर किसी व्यक्ति के पास साइकिल हैं तो वह मोटर साइकिल की इच्छा करेगा और फिर मोटर साइकिल खरीदने पर वह कार खरीदने की मंशा जताएगा इस प्रकार अच्छे दिन कभी नहीं आते। किसी को कभी यह महसूस होता ही नहीं की अच्छे दिन आ गए। कुछ ऐसा ही हाल विपक्षियों का है। modi govt achche din 

नितीश कुमार ने जूस में शराब मिलाकर पीने के संकेत दिये

जरा 2013 का हाल याद तो करें, आपको आटा-चावल का भाव मालूम हो जाएगा। मोदी सरकार के दो साल में सभी क्षेत्रों में अपार उन्नति हुई है, मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, युवा कौशल योजना, जन धन योजना, अटल पेंशन योजना, मुफ्त एलपीजी ईंधन योजना आदि अच्छे दिन ही है। जो आपको अहसास दिलाता है कि अब है अच्छे दिन। modi govt achche din 

दरअसल बात यह हैं की पूर्व सांसद विजय दर्डा के एक सवाल के जवाब में परेशां होकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडगरी ने यह ब्यान दे डाला की अच्छे दिन कभी नहीं आते।मंत्री जी ने कहा की हमने केवल अच्छे दिन शब्दो का प्रयोग किया। इसे शाब्दिक अर्थ में नहीं लिया जाना चाहिए इसका मतलब यह होना चाहिए की प्रगति हो रही हैं। modi govt achche din 

(सलोनी पांडेय )