सुरक्षाबलों पर पत्थर फेकने वाले को मिलेगा 5-5 लाख रूपये का मुआवजा




बुरहान वाणी की मौत के बाद कश्मीर हिंसा के दौरान सुरक्षा बलों की करवाई में मारे गए पत्थरबाजों को 5-5 लाख रूपये का मुआवजा दिया जाएगा। इसकी घोषणा मोदी सरकार ने की है। मोदी सरकार की घोषणा के बाद अब इसे लागु करने की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है। वही पाकिस्तान द्वारा किये गए गोलीबारी में मारे गए ग्रामीणों के परिवारों को भी अब बढाकर मुआवजा दिया जाएगा। modi govt announce compensation stone thrower 

मोदी सरकार ने पाकिस्तान द्वारा गोलीबारी में मारे जाने वाले ग्रामीणों को भी चार लाख की बजाय 5 लाख देने की घोषणा की है। केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के बाद अब इसे अधिसूचित कर दिया गया है। हालांकि, वर्तमान में पुराने मुआवजे के अनुसार ही रकम दी जा रही है। जिसको लेकर प्रदेश की भाजपा इकाई में रोष देखा गया है। modi govt announce compensation stone thrower 

गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार सर्जिकल स्ट्राइक के पहले और उसके बाद अब तक पाकिस्तान द्वारा 437 बार सीजफायर का उल्लंघन किया गया। जिसमें 12 ग्रामीण मारे गए है और 80 घायल हुए। वही सेना के 8 और बी एस एफ के 5 जवान शहीद हुए है। जबकि 99 सैनिक घायल हुए है। पाकिस्तानी गोलों से 111 मकान ध्वस्त हुए है। पुरे तीन साल में अब तक 42 ग्रामीण और 31 जवान शहीद हुए है। modi govt announce compensation stone thrower 

दाऊद इब्राहिम से मिलना कोई गुनाह नहीं है : ऋषि कपूर

पाकिस्तानी गोलीबारी से मारे गए ग्रामीणों को 5 लाख रूपये देने की अधिसूचना महबूबा मुफ़्ती ने विधान सभा में दी है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की तरह से 5 लाख रूपये देने की घोषणा की गयी है। रियासत में इसे लागु करना बाकी है।

महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि इस साल अब तक 12 लोगों की मौत हुई है। इनके परिवार के लोगों को मुआवजा रकम दे दी गयी है। जबकि घायलों को 3 लाख 90 हजार और ध्वस्त मकान के लिए 2 लाख 39 हजार रूपये का मुआवजा दिया गया है।

इस साल अब तक 12 लोगों की मौत हुई है

केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि मोदी सरकार ने कश्मीर में हिंसा के दौरान मारे गए पथरबाजो की मुआवजा राशि बढ़ाने की पेशकश की गयी है। कैबिनेट ने इस पर मुहर लगा दी है। अब रियासत की जिम्मेवारी है कि वह इसे कब  लागु करता है।  modi govt announce compensation stone thrower 

मोदी सरकार के इस फैसले से देश में क्या सन्देश जाएगा ? ये गौरतलब है क्योंकि एक तरफ सेना के जवान अपनी जान की बाजी पर आतंकियों और उनके समर्थकों से लड़ते है। वही जो सेना को निशाना बनाता है उसे मुआवजा देकर एक तरह से सेना के मनोबल को तोड़ने की कोशिश की जा रही है। हालांकि, ये स्प्ष्ट नहीं है कि पीएम मोदी के अनुमति से ये पास किया गया है अथवा मोदी सरकार के कुछ मंत्री अपने हिसाब से कश्मीर में देस विरोधी तत्व को समर्थन देने की कोशिश कर रहे है। modi govt announce compensation stone thrower