मोदी सरकार के अगले बजट से सबके हाथ में होगा कैशलेस गैजेट




मोदी सरकार के अगले बजट से सबके हाथ में होगा कैशलेस गैजेटनरेंद्र मोदी सरकार के चौथे बजट में छोटे करदाताओ को मिलेगी राहत। मोदी सरकार के चौथे बजट में डायरेक्ट टैक्स में बड़े बदलाव किये जा सकते हैं। उसका फोकस कॉर्पोरेट टैक्स और पर्सनल इनकम टैक्स पर होगा। modi sarkar ka aagami budget 2017

सरकार नोटबंदी के बाद पस्त पड़ी इकॉनमी को ग्रोथ के रास्ते पर लाना चाहती है। वित्त मंत्री अरुण जेटली अगले साल 1 फरवरी को बजट पेश करेंगे। आमतौर पर बजट एक महीने बाद पेश किया जाता रहा है। modi sarkar ka aagami budget 2017

जेटली ने कहा की सरकार कॉर्पोरेट टेक्स्ट में कटौती कर 25% पर ला सकती हैं। सरकार अब डायरेक्ट टैक्स में बदलाव कर इस लक्ष्य की तरफ बढ़ने की कोशिश करेगी। स्मॉल टैक्सपेयर्स को भी कई रिदायते दी जा सकती हैं। modi sarkar ka aagami budget 2017

डिविडेंड टैक्स फ्रेमवर्क में भी बदलाव किए जा सकते हैं। सरकार इस टैक्स के लिए उन लोगों को जवाबदेह बनाना चाहती है, जिन्हें इनकम का बड़ा हिस्सा इससे प्राप्त हो रहा है। इस मामले में सरकार के अंदर चल रही चर्चा से वाकिफ एक बड़े अधिकारी ने बताया, ‘बजट में डायरेक्ट टैक्स पर फोकस होगा। अगले फाइनेंस ईयर से जीएसटी लागू किया जाना है। modi sarkar ka aagami budget 2017

इसलिए बजट में इनडायरेक्ट टैक्स में करने लायक ज्यादा कुछ नहीं होगा। कस्टम ड्यूटी स्ट्रक्चर में कुछ बदलाव किए जा सकते हैं।’

टैक्स एक्सपर्ट्स का कहना है कि अधिक लोगों को टैक्स के दायरे में लाने के लिए सरकार सख्ती के साथ इंसेंटिव भी देने का भी मन बना सकती है। ईवाई में नैशनल टैक्स लीडर सुधीर कपाड़िया ने कहा, ‘इसका मतलब कॉर्पोरेट और पर्सनल इनकम टैक्स रेट में कटौती हो सकती है। इनकम डिसक्लोजर के नियम सख्त किए जा सकते हैं। मिनिमम इग्जेम्पशन लिमिट बढ़ाई जा सकती है और मिड लेवल में टैक्स स्लैब के रेट कम किए जा सकते हैं। modi sarkar ka aagami budget 2017

( सलोनी पांडेय )