मोदी के साथ तुम शिवराज चौहान भी सत्ता से बाहर जाओगे : कांग्रेस




मौत के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उपवास पर बैठ गए। जिसको लेकर अब भी कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। किसानों पर किए गए जुर्म को लेकर अब सोशल मीडिया में खूब बहस हो रही है जिसमें सीधे तौर पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को दोषी ठहराया जा रहा है। अब तो यह कहा जा रहा है कि शिवराज सिंह नौटंकी करने में माहिर हैं और पिछले 12 वर्ष से ऐसे ही नौटंकी कर सत्ता में हैं। modi satta se bahar jayenge 

किसान कर्ज को लेकर प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं

जिस प्रकार से शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के दशहरा ग्राउंड में उपवास किया और फिर किसानों के आह्वान पर उपवास तोड़ा। इसे भी फिक्सिंग कहा जा रहा है कि किसानों से यह कहलवाया गया कि आप ऐसा कहें। उसके बाद चेक देने की घोषणा की गई। जिस प्रकार से किसान अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे उसपर गोली चलाई गई और उनकी मांग को दरकिनार किया गया। इसको लेकर प्रदेश सरकार की काफी आलोचना हो रही है। modi satta se bahar jayenge 

प्रदेश सरकार किसानों की समस्या का हल अवश्य निकालेगी

सोशल मीडिया में तो यह भी कहा जा रहा है कि अब शिवराज सिंह चौहान के दिन पूरे हो गए हैं और जिस प्रकार से नरेंद्र मोदी के खिलाफ माहौल बन रहा है वैसे ही साथ में अब शिवराज सिंह चौहान की सत्ता छिन जाएगी। शिवराज सिंह चौहान सरकार को निशाना बनाते हुए कहा जा रहा है कि सरकार के पास किसानों की समस्या के समाधान के लिए कोई योजना नहीं है। केवल नाटक कर रही है। modi satta se bahar jayenge 

इंशाल्लाह एक दिन कश्मीर भी जीत लेंगे : मीरवाइज़

अगर सरकार समस्या के हल करने की बजाय खुद उपवास पर बैठ जाती है इसका क्या मतलब है। सरकार किसान विरोधी है। वहीं दूसरी तरफ शिवराज सिंह चौहान का कहना है कि किसान कर्ज को लेकर प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं बल्कि उन्हें उपज का उचित मूल्य मिले इसके लिए आंदोलनरत है। सरकार के कोशिश की वजह से प्रदेश में उत्पादन लगातार बढ़ हैं। प्रदेश सरकार केंद्र सरकार से मिलकर किसानों की समस्या का हल अवश्य निकालेगी। modi satta se bahar jayenge