मोदी के ट्रम्प कार्ड से बौखलाया चीन कहा खामियाजा भुगतने के लिए भारत रहे तैयार !




अमेरिकी प्रशासन ने पिछले शासन के उलट कुछ ऐसे फैसले लिए हैं जिससे अब कई देश चौकन्ना हो रहा है। भारत ने उत्तर कोरिया के मुद्दे पर अमेरिका का समर्थन क्या दिया चीन के कान खड़े हो गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिकी दौरे पर उत्तर कोरिया पर अमेरिका का साथ देने का वादा किया जिसकी ट्रंप प्रशासन ने तारीफ की। modi trump meeting 

modi trump meeting विश्व राजनीति में काफी बदलाव आ गया है

ट्रंप प्रशासन के लिए उत्तर कोरिया मुद्दा काफी अहम है। जो कुछ समय से परेशानी का सबब बन गई है जो लगातार चेतावनी के बाद भी परमाणु परीक्षण कर रहा है। साथ ही अमेरिका और उसके सहयोगी देशों पर बार बार परमाणु कार्रवाई की धमकी देता रहा है। जिससे ट्रंप प्रशासन परेशान है और कोई कार्रवाई नहीं कर पा रहा है। गौरतलब है कि चीन उत्तर कोरिया के साथ है। modi trump meeting 

दोनों देशों के बीच आंतकवाद से लेकर कई मुद्दों पर बातचीत हुई

ट्रंप सरकार ने उत्तर कोरिया के मुद्दे पर चीन की मदद मांगी है। लेकिन चीन ने कुछ मदद की लेकिन वह काफी नहीं था। अब जब भारत ने अमेरिका को साथ देने का वादा किया उसके बाद चीन बेहद दवाब महसूस कर रहा है। दरअसल उत्तर कोरिया के मुद्दे पर चीन और अमेरिका के बीच तल्खी से भारत को मौका मिला और कूटनीति स्तर पर भारत ने समर्थन जाहिर कर दिया जो काफी अहम है। modi trump meeting 

हिजड़ों की सरकार में सेना बलात्कारी है : आज़म खान

दोनों देशों के बीच आंतकवाद से लेकर कई मुद्दों पर बातचीत हुई जिसपर आगे बढ़ना ही था। लेकिन जिस प्रकार से उत्तर कोरिया के मामले में भारत ने समर्थन जाहिर किया और इसकी सराहना ट्रंप प्रशासन ने भी की है वह काफी अहम है। ट्रंप प्रशासन ने अमेरिका प्रशासन के पहले के निर्णय में काफी बदलाव किए हैं जिसमें ईरान के साथ परमाणु डील है जिसके उलट अब सऊदी अरब को समर्थन दिया है जिससे विश्व राजनीति में काफी बदलाव आ गया है। सऊदी अरब कतर पर प्रतिबंध लगा दिया है। modi trump meeting 




आम करेगा इन बीमारियों का काम तमाम