IS के खिलाफ अंतिम युद्ध में मोदी-ट्रम्प की अहम भूमिका




मोसुल से आईएसआईएस का नामो निशान मिट गया है। इराकी गठबंधन सेना ने मोसुल को अपने कब्जे में ले लिया है। लेकिन अभी उसके अस्तित्व को पूर्ण मिटाया जा चुका है ऐसा नहीं कहा जा सकता है।

आईएसआईएस ने जुलाई 2014 में मोसुल पर अपना कब्जा कर लिया था जिसके बाद अक्टूबर 2016 को इराकी गठबंधन सेना ने अपने अभियान शुरू किए। और फिर से यहां से आईएसआईएस का खात्मा कर दिया गया है। गौरतलब है कि आईएसआईएस के सरगना अबू बकर अल बगदादी ने खुद को मुसलमान का नया खलीफा घोषित किया था और मोसुल को अपने साम्राज्य की राजधानी घोषित किया था। अब जब मोसुल उसके हाथ से निकल गया है। लेकिन अब भी इराक से आईएसआईएस के अस्तित्व का अंत नहीं माना जा सकता है। मोसुल की जीत हजारों इराकी सैनिकों और पश्चिमी गठबंधन सेना के लड़ाकू विमानों व विशेष दस्तों की मदद से सभंव हुआ है। मोसुल की जीत तो हो गई है लेकिन शहर पूरी तरह से तबाह हो गया है। नौ महीने चली इस लंबी जंग में मोसुल तहस नहस हो गया है।

बुरहान वाणी हम शर्मिंदा है तुम्हारे कातिल अभी भी ज़िंदा है: कांग्रेस




अमेरिकी स्पेशल फोर्सेस के कर्नल रिटायर्ड डेविट विटी के मुताबिक, आईएसआईएस की प्रतिष्ठा में यह एक बड़ा दाग है। आईएसआईएस अपनी आधी से ज्यादा जमीन और तीन चौथाई आबादी को गंवा चुका है। मोसुल के बाद दूसरा सबसे बड़ा गढ़ सीरिया का रक्का शहर है वहां पर भी उसके खिलाफ सैन्य अभियान शुरू हो चुका है। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही उस शहर को आईएसआईएस से छुटकारा मिल जाएगा। लेकिन मोसुल की जीत से यह नहीं समझा जाना चाहिए कि आईएसआईएस अब लौटकर नहीं आएंगे। कभी भी वे पलटवार कर सकते हैं। इसके लिए सावधान रहने की जरूरत है। इस्टिट्यूट फॉर द स्टडी ऑफ वार में इराकी मामलों के विशेषज्ञ पैट्रिक मार्टिन का कहना है कि अभी भी आईएसआईएस के कब्जे में एक बड़ा भूभाग है।

सीरिया में उसके पास अच्छा खासा शहरी इलाका है। मार्टिन का कहना है कि अगर सेना आईएसआईएस के खिलाफ मिली इस जीत को लेकर सावधान नहीं रही तो यह आतंकवादी संगठन यहां दोबारा खड़ा हो सकता है। अभी भी विशेषज्ञ आने वाले सालों में इराक को लेकर संशकित भी हैं कि क्योंकि आईएसआईएस किसी न किसी रूप में फिर से उभरने के रास्ते खोजेगा।

<div id=”SC_TBlock_158791″ class=”SC_TBlock”>loading…</div>
<script type=”text/javascript”>
(sc_adv_out = window.sc_adv_out || []).push({
id : “158791”,
domain : “n.ads3-adnow.com”
});
</script>
<script type=”text/javascript” src=”//st-n.ads3-adnow.com/js/adv_out.js”></script>