राष्ट्रपति बना तो देश में गौ रक्षा के लिए एक समान कानून बनाऊंगा : मोहन भागवत





गौ रक्षा के लिए एक समान कानून बनाने की बात कही जा रही है। गौ रक्षा को लेकर कई राज्यों से कोर्ट ने जवाब मांगा है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत ने कहा है कि गौ रक्षा के लिए एक समान कानून बनने चाहिए। जिसके लिए पहल करने की आवश्यकता है। mohan bhagvat will become next president 

मोहन भागवत का मानना है कि राजनीतिक रूप से अभी कई तरह की जटिलताएं हैं, जिससे दूर करने की आवश्यकता है। अभी इसे दूर करने में थोड़ा समय लगेगा। निश्चिततौर पर ऐसे कानून बनते ही कोई किसी पर हिंसा नहीं कर सकता। मोहन भागवत के जिस तरह से बयान आ रहे हैं माना जा रहा है कि इनके राष्ट्रपति बनते ही इस तरह के कानून बन सकते हैं जिसके लिए राजनीतिक दलों से बातचीत की जा सकती है। mohan bhagvat will become next president 

एनडीए की इस मार्फत बैठक भी बुलाई गई है।

मोहन भागवत का यह बयान ऐसे समय में आया है जब कई तरह के गो हत्या के नाम पर हिंसा फैलाई जा रही है। इस बाबत उन्होंने कहा है कि गौ हत्या के नाम पर ठेस पहुंचाना या किसी भी तरह की हिंसा करना ठीक नहीं है। जिसके लिए कोर्ट ने भी संज्ञान लिया है और राज्यों से जवाब मांगा है। मोहन भागवत बेवाकी से अपनी बात कहते हैं और इनकी बातों को काफी तरजीह दी जाती है जिसे सभी दलों के नेता मानते हैं। mohan bhagvat will become next president 

राम मंदिर निर्माण का विरोध करने वाले का सर कलम कर देंगे : राजा सिंह

गौरतलब है कि सर संघचालक मोहन भागवत का नाम राष्ट्रपति पद के लिए सबसे आगे चल रहा है जिसके लिए गोलबंदी भी की जा रही है। एनडीए की इस मार्फत बैठक भी बुलाई गई है। जिसमें शिवसेना को मनाने की बात कही जा रही है। mohan bhagvat will become next president 

अब जब मोहन भागवत गौ रक्षा पर ऐसे बयान देते हैं तो तय है कि ऐसा माना जाता है कि इस पर कानून बनेंगे। भले की इसमें कुछ समय लगेगा। जिस तरह से उत्तर प्रदेश सरकार ने लगातार इस दिशा में आगे बढ़ी है तो और भी राज्यों को आगे बढ़ने की आवश्यकता होगी। mohan bhagvat will become next president