महात्मा गाँधी नामर्द नहीं थे लेकिन भागवत नामर्द है : राहुल गाँधी




मेघालय विधान सभा चुनाव 27 फरवरी को होने है। इसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने कमर कस ली है। इस क्रम में राहुल गाँधी मेघालय के दौरे पर है। जहाँ वो पहले दिन से ही चर्चा में है। पहले, राहुल गाँधी विमान यात्रा में को पैसेंजर्स की मदद कर खूब सहानुभूति बटोरी। वही म्यूजिक कॉन्सर्ट में 70 हजार की जैकेट पहन उन्होंने सभी को आश्चर्य चकित कर दिया। mohan bhagwat namard hai

ये वही राहुल गाँधी है जिन्होंने उत्तराखंड विधान सभा चुनाव के दौरान एक रैली में राहुल गाँधी ने अपने फ़टे कुर्ते में से हाथ निकालकर कहा था कि ये मोदी सरकार के अच्छे दिन है। फिर अचानक राहुल गाँधी कैसे धनी बन गए, ये विचारणीय सवाल है। इस बारे में कांग्रेस की नेता रेणुका चौधरी ने हास्यप्रद बयान देकर सबको चौका दिया है। उनकी माने तो वो ऐसे जैकेट 700 में खरीद सकती है। जबकि ऑनलाइन इसकी कीमत लगभग 70 हजार है।ऐसे में कैसे रेणुका चौधरी 700 रूपये में इसी तरह की जैकेट खरीद रही है, ये भी विचारणीय सवाल है।mohan bhagwat namard hai

बीजेपी जाति और लिंग की राजनीति करती है

खैर, आगे बढ़ते है और राहुल गाँधी के मेघालय दौरे की बात करते है। इस क्रम में बुधवार को राहुल गाँधी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हम आरएसएस से अपनी विचारधारा के लिए लड़ रहे है। बीजेपी और आरएसएस देश को बांटने में जुटी है जबकि हम देश को एकत्र करने की कोशिश में है। बीजेपी ने अकेले उत्तर भारत में धर्म, जाति, भाषा और लिंग के आधार पर समाज के जीवन को नष्ट करने की कोशिश की है। mohan bhagwat namard hai

नसों का गुच्छा बन जाय तो क्या करें

इसके साथ राहुल गाँधी ने आगे कहा कि आरएसएस में महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है। क्या कभी आपने आरएसएस में महिलाओं की भागीदारी को देखा है, नहीं बिलकुल नहीं। क्योंकि आरएसएस की विचारधारा में महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है। यदि आप कभी राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की तस्वीर देखेंगे तो उनके दाएं और बाएं साइड में महिलाएं दिखेंगी लेकिन जब कभी आप आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की तस्वीर देखेंगे तो दूर दूर तक महिला नहीं दिखेंगी। mohan bhagwat namard hai

मैं मुसलमानों की खातिर अपनी जान दे सकता हूँ : हार्दिक पटेल

उन्होंने कहा कि बीजेपी और आरएसएस जाति और लिंग की राजनीति करती है लेकिन कांग्रेस निष्पक्ष रूप से राजनीति करती है। जिसमें सभी समुदायों और वर्गों का ध्यान रखा जाता है। हम मेघालय में भी महिलाओं को पार्टी में शामिल होने के लिए आमंत्रित करते हैं। mohan bhagwat namard hai

( प्रवीण कुमार )