मोहन भागवत हो सकते हैं देश के अगले राष्ट्रपति




देश में राष्ट्रपति चुनाव नजदीक आ गया है। और इस पद के लिए कई नाम सामने आए हैं। जिनमें सर संघचालक मोहन भागवत का नाम भी सर्वोपरि रूप से चल रहा है। राजनीति में कुछ भी संभव है। आम जनता जो सोचती है राजनेता उससे आगे सोचते हैं। ऐसी अटकलें लगाई जा रही है कि संघचालक मोहन भागवत बन सकते हैं राष्ट्रपति। मोहन भागवत कुशल वक्ता हैं। जब मोहन भागवत राजधानी में अपने वक्तंव्य देने आते हैं तो उनको सुनने के लिए सभी दलों के नेता आते हैं। उनका आदर भी करते हैं। राष्ट्रपति के पद को दलों से ऊपर रखा गया है। mohan bhagwat will next president 

मोहन भागवत भी राष्ट्रपति बन जाएं

ऐसा माना जाता है कि राष्ट्रपति बड़ी निष्पक्षता के साथ अपने कर्तव्य का निर्वाहन करते हैं। जिसके कारण यहां फरियाद कोई भी लगा सकता है। भले ही उसपर विराजमान व्यक्ति पहले किसी भी राजनीतिक दल का सदस्य हो लेकिन पद प्राप्त करते ही संविधान का सर्वोच्च होता है। mohan bhagwat will next president 

मोहन भागवत में ऐसी सारी कुशलता है। वे सभी राजनीतिक दलों से तालमेल बनाकर सहमति से कार्य करने वाले सफल होंगे। निष्पक्षता तो उनका स्वभाव ही है। देश में जिस प्रकार की राजनीति अभी चल रही है, उसमें अप्रत्याशित कदम उठाए जा रहे हैं। mohan bhagwat will next president 

मोदी और योगी मुसोलिनी, हिटलर जैसे तानाशाह है- दिग्विजय सिंह

संघ बहुत अच्छे ढ़ंग से केंद्र की सरकार चलाने में सहयोग कर रही है। सरकार और संघ का तालमेल से ही कयास लगाए जा रहे हैं कि मोहन भागवत अगले राष्ट्रपति होंगे। उनके सहज स्वभाव को देखे तो वे पद के लिए लालायित नहीं होते हैं। यह भी तय है कि मोहन भागवत अगर राष्ट्रपति पद के लिए हामी भरते हैं तो अन्य कोई प्रत्याशी भी मैदान में नहीं आएंगें। हालांकि कोई भी प्रत्याशी अगर मैदान में आता है तो वह केवल औपचारिकता ही पूरी करेगा। आज जब देश बदल रहा है या यूं कहें कि बदल गया है तो संभव है मोहन भागवत भी राष्ट्रपति बन जाएं। mohan bhagwat will next president