मदर ऑफ ऑल बम vs फादर ऑफ ऑल बम




अमेरिका ने जहां बम ऑफ ऑल मदर बनाया तो रुस ने बम ऑफ ऑल फादर बना डाला। दोनों ही विंध्वसक हैं दुश्मनों के ठिकानों के तबाह करने के लिए। अमेरिकी राष्ट्रपति ने पहले ही अलगाववादियों को चेतावनी दे थी कि उनपर कार्रवाई होगी। जिसे अमेरिका ने कर दिखाया है। mother bomb vs father bomb 

अफगानिस्तान के आईएसआईएस के ठिकाने पर अमेरिका ने बम ऑफ आल मदर गिराया जिससे अफगानिस्तान में छिपे आईएस की सुरंगों को नष्ट किया जा सका है। अमेरिका का यह अभियान सफल रहा है। दरअसल इस बम को दुश्मनों को डराने के लिए बनाया गया है जिससे की आतंकवादियों के मन में डर समा जाए और आतंक की कार्रवाई ना करें। mother bomb vs father bomb 

वनस्पति और इमारतें को भी काफी नुकसान पहुंचता है

बम ऑफ आल मदर यानी मैसिव ऑर्डनस एयर ब्लास्ट को एक बड़े विमान से ही गिराया जा सकता है यह इतना बड़ा होता है इसमें एक जालीदार पंख होते हैं जो हवा के गति को नियंत्रित करता है। खास बात यह ह कि इसे सैटेलाइट की मदद से दिशा दी जाती है। इसे गिराने में पैराशूट की अहम भूमिका होती है जो पैलिट को नियंत्रित करती है। mother bomb vs father bomb 

बम ऑफ आल मदर जमीन के छह फीट ऊपर ही विस्फोट कराया जाता है ताकि ज्यादा से ज्यादा एरिया कवर हो। खास बात यह है ऐसे बम्स का मकसद दुश्मन के हथियारों के बेड़े को तबाही पहुंचाना होता है। इसका धमाका करीब ग्यारह टीएमटी बमों के धमाके के बराबर होता है। अमेरिका ने इसे 2003 में बनाया था जिसे इराक युद्ध में टेस्ट भी किया था लेकिन इसका इस्तेमाल पहली बार गुरुवार यानी 13 अप्रैल को किया गया। mother bomb vs father bomb 

पाक ने जाधव को फांसी दिया तो रिटायर्ड कर्नल को हूर के पास पहुंचा दूंगा : मोदी सरकार

रुस ने बम आफ मदर के जवाब में फादर ऑफ ऑल बॉम्स का निर्माण ईराक युद्ध के बाद ही कर दिया। इस बम का वजन हीरोसिमा में गिराए गए बम से ज्यादा वजन का है। इसका धमाका एक मील तक सुना जा सकता है। इस बम का वजन जहां 9500 किलो का है वहीं करीब 30 फीट लंबा और 40 इंच चौड़ा है। खासबात यह है कि न्यूक्लियर बम होने की वजह से इससे कोई रेडिएशन नहीं निकलता है। mother bomb vs father bomb 

ऐसे बम वातावरण में मौजूद ऑक्सीजन को सौंख जाता है। जिससे घुटन पैदा हो जाता है। और तबाही फैल जाती है। इससे मनुष्य के आंतरिक अंगों को काफी नुकसान पहुंचता है। वनस्पति और इमारतें को भी काफी नुकसान पहुंचता है। अगर कोई व्यक्ति बच भी जाता है तो सदमे से बाहर निकलना काफी मुश्किल होता है। mother bomb vs father bomb