मोदी जी कुछ भी कर लो मैं सीएम की गद्दी नहीं छोडूंगा : केजरीवाल




आम आदमी पार्टी की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही है। एक व्यक्ति जो स्वयं दूसरों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर सत्ता तक पहुंचा, आज स्वयं आरोपों के कठघरे में खड़ा है। पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने साफ तौर पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप जड़ा है कि मैंने देखा है कि सत्येंद्र जैन केजरीवाल को दो करोड़ रुपए दे रहे हैं। mujhe cm chair se koi nahi hata skta hai 

केजरीवाल के पास अब खुद जबाब नहीं है

इसके बाद आम आदमी पार्टी में खलबली मच गई। जहां विपक्ष अपने तेवर में अरविंद केजरीवाल से इस्तीफा मांग लिया वहीं पार्टी के कई वरिष्ठ नेता और उनके विरोधी भी अरविंद केजरीवाल के समर्थन में आ गए। भाजपा ने साफ तौर पर कहा है कि भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा खुलासा है, क्योंकि मुख्यमंत्री का भ्रष्टाचार का खुलासा करने वाला शख्स उनके ही मंत्रिमंडल का सहयोगी है केजरीवाल इस्तीफा दें। वहीं आप नेता कुमार विश्वास ने कहा कि बिना सबूत के ऐसे आरोप लगाना सही नहीं है। mujhe cm chair se koi nahi hata skta hai 

यह आरोप ऐसे समय में लग रहे हैं जब पार्टी को नगर निगम चुनाव में हार के बाद मजबूती की जरूरत थी। दरअसल अरविंद केजरीवाल को यह लग गया था कि वे अपराजेय हैं और उनके नाम में चमत्कार है और वे कर रहे हैं सब सही है। जिस प्रकार से कपिल मिश्रा ने आरोप लगाए हैं यह इतनी जल्दी शांत नहीं होने वाला है। mujhe cm chair se koi nahi hata skta hai 

कपिल मिश्रा पहुंचे ACB ऑफिस

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई केंद्रीय मंत्रियों अरुण जेटली, नितिन गडकरी, स्मृति ईरानी पर आरोप जड़े लेकिन खुद सबूत देने में इधर उधर झाकते नजर आते रहे हैं। mujhe cm chair se koi nahi hata skta hai 

केजरीवाल को भ्रष्टाचार के मामलों में इस्तीफा देना चाहिए : मनोज तिवारी

गौरतलब है कि अरविंद केजरीवाल भ्रष्टाचार के विरुद्ध आंदोलन की ऊपज हैं और इसी को मुद्दा बनाकर दिल्ली का चुनाव भी जीता है लेकिन अब उनके पास इसका खुद जवाब नहीं है आखिर इसका कैसे जवाब दिया जाए। निश्चिततौर पर कपिल मिश्रा द्वारा लगाए गए आरोप भले ही साबित नहीं हो लेकिन अरविंद केजरीवाल को अब पार्टी में निर्णय सर्वसम्मति से लेने होंगे। mujhe cm chair se koi nahi hata skta hai