हे बजरंग बली तीन तलाक़ का समर्थन करने वालों की तोड़ दें नली : मुस्लिम महिलाएं




देश भर में तीन तलाक का मुद्दा गरमाया हुआ है। और इस कुरितियों से छुटकारा मुस्लिम महिलाएं अब हनुमान जी की शरण में पहुंच गए। तीन तलाक पर उच्चतम न्यायालय में 11 मई को सुनवाई होनी है इसको लेकर मुस्लिम महिलाएं में भी बेचैनी है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक इंद्रेश जो लगातार मुस्लिम संगठन से बातचीत करते रहे हैं। muslim mahilaon ne ki hanuman ji ki puja 

समान नागरिक संहिता

इनकी अगुआई मेंवाराणसी की मुस्लिम महिलाओं ने पातालपुरी मठ में सौ बार हनुमान चालीसा का पाठ किया। मुस्लिम महिलाओं ने भगवाना श्रीराम की आरती से चालीसा की शुरुआत की। महिलाओं ने साफ तौर पर कहा कि महिलाओं पर अत्याचार को खत्म किया जाना चाहिए। हनुमान जी सभी कष्टों के निवारणकर्ता हैं इसलिए पाठ किया जा रहा है। muslim mahilaon ne ki hanuman ji ki puja 

गौरतलब है कि 10 मई 1857 को देश की पहला स्वतंत्रता संघर्ष शुरु हुआ था जिसके ठीक 160 वर्ष बाद तीन तलाक जैसी सामाजिक कुरितियों के लिए संघर्ष का प्रारंभ किया गया था। इसलिए आज का दिन चुना गया है कि हनुमान जी की कृपा रहेगी और इसे समाप्त किया जाएगा। इस कुरितियों की वजह से तालिक शुदा महिलाओं का जीवन का रास्ता काफी कठिन हो जाता है। आखिर उसके लिए क्या रास्ता हो। muslमोदी ने मुस्लिम संगठनों से आग्रह किया im mahilaon ne ki hanuman ji ki puja 

मोदी ने मुस्लिम संगठनों से आग्रह किया

गौरतलब है कि 11 मई को उच्चतम न्यायालय की संविधान पीठ में तीन तलाक पर सुनवाई होगी। तीन तलाक पूरी तरह से अमानवीय है इसपर रोक लगनी ही चाहिए। मुस्लिम महिलाओं का कहना है कि जिस तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुस्लिम संगठनों से आग्रह किया है कि वह इस कुरितियों को खत्म करने के लिए आगे आएं जिसकी सराहना की जानी चाहिए। muslim mahilaon ne ki hanuman ji ki puja 

पाकिस्तानियों को घर में घुसकर मारेंगे : नायला बलूच 

मुस्लिम संगठनों की एक प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर इसे खत्म करने को कहा है वहीं कई संगठन ने प्रेस वार्ता कर प्रधानमंत्री की हां में हां मिलाई है। गौरतलब है कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने भी एक देश एक कानून यानी समान नागरिक संहिता लागू करने की बात कही है। muslim mahilaon ne ki hanuman ji ki puja