वोट बैंक के लिए कितना गिर गया हरीश रावत !

 उत्तराखंड में विधान सभा चुनाव अगले वर्ष होना है लेकिन राजनितिक हलचल अब तेज होने लगी है। इसी क्रम में कांग्रेस ने एक नया विधेयक पास किया है जिसमें नमाज पढ़ने के लिए अब डेढ़ घंटे की छुट्टी का प्रावधान है। इस नए फैसले से अब सरकारी दफ्तरों में काम करने वाले मुस्लिम कर्मचारियों को हर शुक्रवार को नमाज के लिए डेढ़ घंटे की छुट्टी दी जाएगी। ये फैसला कांग्रेस पार्टी ने आने वाले विधान सभा में मुस्लिम वोट बैंक के लिए की है। namaj off congress harish govt  decision 

आज यूपी में होगा मोदी-राहुल के बीच मैदान ए जंग

आपको बता दें की हाल ही में उत्तरराखंड में राजनितिक संकट पैदा हो गई थी जब कांग्रेस के 9 विधायक बागी हो गए थे जिससे प्रदेश में कांग्रेस अल्पमत में आ गई थी और फिर प्रदेश में राज्यपाल शासन लागु हो गया था। जिसका अंत सुप्रीम कोर्ट में हुई जब हरीश रावत ने कोर्ट में विस्वास मत हासिल किया था हालाँकि, हरीश रावत ने विश्वास मत हासिल कर लिया था लेकिन कांग्रेस का विश्वास हिल गया था और आने वाले विधान सभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है। namaj off congress harish govt  decision 

कांग्रेस को डर है की जिस तरह देश में पीएम मोदी का जनादेश बढ़ता जा रहा है ऐसे में वर्तमान मुद्दे को लेकर किसी भी सूरत में विधान सभा चुनाव नहीं जीता जा सकता है। ऐसे में अल्पसंख्यकों का दिल जीतना बेहद जरुरी है। कुछ राजिनीतिकार इसे कांग्रेस की मनमानी का संज्ञा दे रहे है। वही प्रदेश की बीजेपी इकाई ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। namaj off congress harish govt  decision 

हरीश रावत का ये फैसला दुर्भाग्यपूर्ण है

बीजेपी के नलिन कोहली ने कहा की हरीश रावत का ये फैसला दुर्भाग्यपूर्ण है वोटों की खातिर हरीश सरकार कुछ भी कर सकती है। इसमें कोई लॉजिक नहीं दीखता है लेकिन अब विचारणीय बात ये है कि यदि हरीश सरकार मुसलमानो के लिए नमाज पर छुट्टी देते है तो क्या अब हिंदुओं को भी सोमवार और मंगलवार के दिन शिव और हनुमान जी की पूजा के लिए एक घंटे की छुट्टी देंगे ? namaj off congress harish govt  decision 

कांग्रेस पार्टी का जिस तरह से पांच राज्यों में सूपड़ा साफ़ हुआ है उसे देख तो ऐसा लगता है की कांग्रेस पार्टी सदमे में है और इस जदोजहज में जो कांग्रेस से बन पड़े वो कांग्रेस सरकार प्रदेश में करना चाहती है। ऐसे में अब देखना ये है कि हरीश सरकार वोट बैंक के लिए आने वाले दिनों में मुस्लिमों के लिए और कितने लाभकारी योजनाओं को लागु करते है। namaj off congress harish govt  decision 

( प्रवीण कुमार )