मोदी जी खुदा के वास्ते बख्श दो अब कभी घोटाला नहीं करूँगा : राहुल गाँधी




नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया गांधी और राहुल गांधी की मुसीबतें बढ़ सकती है। न्यायालय ने आयकर विभाग को इसकी जांच के लिए आदेश दे दिए हैं। नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी को उच्च न्यायालय से झटका लगा है जिसके तहत अब आयकर विभाग जांच करेगा कि आखिर कैसे पैसे का ट्रांस्फ्रर हुआ है। जिसमें नियमों को ताक पर ऱखकर केवल लाभ लेने के लिए कानून को ठेंगा दिखाया गया। national herald case will open 

सोनिया और राहुल ने नेशनल हेराल्ड की पांच हजार करोड़ की संपत्ति पर कब्जा कर लिया।

अब आयकर विभाग यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में सोनिया और राहुल की हिस्सेदारी की जांच करेगा। जिसमें खातों में की गई हेराफेरी के बारे में पता किया जाएगा। इस मद्देनजर आयकर विभाग कांग्रेस अध्यक्ष और उपाध्यक्ष से पूछताछ भी कर सकता है। national herald case will open 

गौरतलब है कि यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड नाम से एक कंपनी बनाई गई थी जिसने नेशनल हेराल्ड की पब्लिसर एसोसिएटेड जनरल लिमिटेड को टेकओवर किया। जिसमें कहा जा रहा है कि नियम को किनारे कर पैसे के हेर किया गया। भाजपा नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने इसके लिए कोर्ट में याचिका दाखिल की। सुब्रमण्यम स्वामी का आरोप है कि सोनिया गांधी और अन्य हिस्सेदारों ने मिलकर षड़यंत्र रचा। national herald case will open 

1938 में जवाहरलाल नेहरू ने कांग्रेस के एक मुखपत्र की शुरुआत लखनऊ से की।

जिसके बाद एसोसिएटेड जनरल लिमिटेड को पचास लाख रुपए देकर यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड ने 90.28 करोड़ रुपए वसुलने का अधिकार ले लिया। आरोप यह है कि सोनिया और राहुल ने नेशनल हेराल्ड की पांच हजार करोड़ की संपत्ति पर कब्जा कर लिया। जिसकी जांच के लिए पटियाला हाउस ने आदेश दिए थे जिसे चुनौती उच्च न्यायालय में दी गई। अब जबकि उच्च न्यायालय ने भी जांच के आदेश दे दिए हैं तो सोनिया गांधी के वकील व वरिष्ठ कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी उच्चतम न्यायालय जाने की तैयारी में हैं। national herald case will open 

गौरतलब है कि इस विवाद के बाद यह खबर आई की नवजीवन हिंदी अखबार पुनः शुरू की जाएगी। जिसके लिए प्रोसेस भी शुरू किया गया। दरअसल 1938 में जवाहरलाल नेहरू ने कांग्रेस के एक मुखपत्र की शुरुआत लखनऊ से की। उस वक्त भी दो अखबार हिंदी में नवजीवन और उर्दू में कौमी आवाज छापा करती थी। national herald case will open 

बंटवारे के समय मेरे परिवार को पाकिस्तान चला जाना चाहिए था : ममता बनर्जी

2008 तक एसोसिएटेड जनरल लिमिटेड चलाती रही। लेकिन उसके बाद 2009 से सभी प्रकाशन बंद कर दिए। अब जबकि कांग्रेस का जनाधार लगातार देश में घटता जा रहा है ऐसे में इस तरह की जांच के आदेश के बाद कांग्रेस के प्रति लोगों का परसेप्सन और खराब होता नजर आता है जिसे अभी छवि उबारने को लेकर एक बड़ा झटका है। national herald case will open