उत्तर प्रदेश में योगी तो टाइम पास कर रहा है काम तो बिहार में हो रहा है : नितीश कुमार




कोई राजनीति पार्टी दूसरे दल के अच्छे कार्यों की सराहना करती है तो निश्चित तौर पर यह सकारात्मक राजनीति के संकेत दिए जाते हैं। जिसके दूरगामी प्रभाव पड़ते हैं इससे समाज में अच्छा संदेश जाता है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जिस प्रकार से प्रदेश में शराबबंदी की तो इसकी प्रशंसा पूरे देश भर में हुई। यहां तक चुनाव में भी यह मुद्दा उछाला गया। nitish kumar slams yogi 

बिहार और उत्तर प्रदेश पड़ोसी राज्य है

आखिर क्यों नहीं अन्य प्रदेशों में शराबबंदी। अब जब उत्तर प्रदेश में नई सरकार भाजपा का गठन हुआ है और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिस प्रकार से शपथ ग्रहण लेते ही कई ऐसे निर्णय लिए जिसकी चर्चा पूरे देश में है। योगी आदित्यनाथ के इस कार्यों से बिहार के मुख्यमंत्री ने नीतीश कुमार ने भी सीख ली है और आनन फानन में यह कहा है कि अवैध बूचड़खाने बंद कर दिए जाएंगें। नीतीश कुमार को पता है कि अगर वे ऐसे निर्णय नहीं लिए तो प्रदेश में भाजपा मुद्दा बनाकर इसे उछालेगी और राजनीतिक फायदा ले जाएगी। nitish kumar slams yogi 

ऐसे नीतीश कुमार योगी के मुरीद हुए हैं और अगर ऐसे निर्णय लेते हैं तो तय है कि समाज पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। राजनीति में ऐसे कम उदाहरण देखने को मिलते हैं। विपक्ष केवल आलोचना में लगी रहती है जिससे प्रदेश में सकारात्मक राजनीति नहीं हो पाती है। और विकास भी प्रभावित होता है। nitish kumar slams yogi 

ढोंगी योगी को एक दिन जरूर कुरान पढ़वाऊंगा : आज़म खान

नीतीश कुमार ने भाजपा के अच्छे कार्यों की लगातार सराहना की है भले ही उनकी आलोचना पार्टी के लोग करते रहे। नीतीश कुमार अगर प्रदेश में अवैध बुचड़खाने बंद करवाते हैं तो प्रदेश में एक और अच्छे कार्य होंगे। बिहार और उत्तर प्रदेश पड़ोसी राज्य है, एक ही कल्चर के लोग हैं ऐसे में दोनों प्रदेश में भले ही दो समान विचारों वाली पार्टी सरकार में न हो, लेकिन अगर देश समाज को ध्यान में रखकर कदम उठाए जा रहे हैं तो उसकी सराहना होनी ही चाहिए। nitish kumar slams yogi