पाकिस्तान और चीन को उड़ने वाला परमाणु बम का बटन कोविंद के हाथ





राष्ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद की जीत देश के इतिहास में एक नया अध्याय है। रामनाथ कोविंद देश के 14 वें राष्ट्रपति होंगे। इनका चुनाव के बाद कई चीजें पहली बार होंगी। जब भी नए राष्ट्रपति का चुनाव होता है तो उन्हें कई जानकारी दी जाती है लेकिन ऐसा पहली बार होगा कि भारत के भावी राष्ट्रपति को परमाणु बम के बटन की जानकारी दी जाएगी। nuclear button won kovind

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ऐसे समय में शपथ लेंगे जब भारत के चीन से लगातार बोर्डर पर तनातनी बनी हुई है। वहीं दूसरी तरह पाकिस्तान लगातार सीज फायर का उल्लंघन कर रहा है। वहीं जम्मू कश्मीर में भारत ने कड़े रुख अपना रखा है जिससे पाकिस्तान बौखला हुआ है। nuclear button won kovind




देश के भावी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत 22 जुलाई को देश की आंतरिक सुरक्षा के हालात के बारे में अवगत कराएंगें। इसके अलावा ये अधिकारी भावी राष्ट्रपति को युद्ध की आपात स्थिति से निपटने के लिए किए गए इंतजामों के बारे में भी जानकारी देंगे। nuclear button won kovind

घबराये पकिस्तान का बेतुका आरोप

ऐसा पहली बार होगा जब भारत के भावी राष्ट्रपति को परमाणु बम के बटन की जानकारी दी जाएगी। अब जब चीन की ओर से परमाणु युद्ध का खतरा लगातार बढ़ने लगा है और ऐसे हालात में अमेरिका ने खुद चुप न बैठने की चेतावनी भी दी है ऐसे में भारत का शामिल होना बहुत स्वाभाविक है। nuclear button won kovind

राजनयिक और सामरिक मामलों के मद्देनजर राष्ट्रपति की अहम भूमिका होती है जो तीनों सेना के प्रमुख होते हैं। लिहाजा भावी राष्ट्रपति को अहम जानकारी से लैस कर किसी भी समय किसी हद तक जाकर निर्णय ले सके। तेज तर्रार अजीत डोभाल की निर्णय लेने के संदर्भ में भूमिका बेहद अहम मानी जाती है और अब माना जा रहा है कि भावी राष्ट्रपति को सामरिक मामलों में निर्णायक भूमिका के लिए तैयार किया जा रहा है।  nuclear button won kovind

loading…


झरते बालों को फिर से उगाना है तो इसे खाएं या लगाएं