जलीकट्टू पर प्रतिबंध से हिंदुओं के हेकड़ी सीधी हो गयी है: ओवैसी




सुप्रीम कोर्ट के जलीकट्टू पर प्रतिबंध लगाने से तमिलनाडु में लोग सड़क पर उतर आये है। प्रदर्शनकारियों ने हजारों की संख्या में पहुंचकर राजधानी का घेराव किया। स्कूल, कॉलेज बन्द है जबकि बस, और रेल सेवा पूरी तरह से बाधित है। राज्य सरकार ने विश्वास दिलाया है कि जलीकट्टू पर जल्द ही फैसला लिया जायेगा। आने वाले दो दिनों में अध्यादेश जारी कर इस प्राचीन खेल को पुनः प्रारम्भ किया जायेगा। owaisi siad jalikattu ban good work 

इस मामले में राज्य के मुख्यमंत्री ओ पनी सिल्वरम पीएम मोदी से मिल चुके है। पीएम मोदी ने आश्वासन दिया है कि केंद्र सरकार की तरह से हर सम्भव मदद की जाएगी। चुकि, मामला अदालत में लम्बित है इसलिए केंद्र केवल राज्य सरकार को सहयोग का आश्वासन दे सकती है। वही मुख्यमंत्री पनी सिल्वरम ने पीएम मोदी से मुलाकात को संतोषजनक बताया। owaisi siad jalikattu ban good work   

ओवैसी जलीकट्टू मामले को सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं

हालांकि, राज्य सरकार ने लोगों को आश्वासन दिया है कि राज्य सरकार जलीकट्टू को पुनः प्रारम्भ करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस बाबत सरकार अदालत के सम्पर्क में है। वही जलीकट्टू का सियासी रंग भी चढ़ने लगा है।एआईएमआईएम चीफ और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि हिंदुओं के लिए ये सबक है। owaisi siad jalikattu ban good work 

उन्होंने जलीकट्टू मामले को तीन तलाक मुद्दे से जोड़कर कहा यूनिफॉर्म सिविल कोड को जबरन देश पर थोपा नहीं जा सकता क्योंकि यंहा संस्कृति कानून से बढ़कर है। देश में कई संस्कृति है और हम सभी अलग-अलग जश्न मनाते है। owaisi siad jalikattu ban good work 

पीएम मोदी आरएसएस का चमचा है : ओवैसी

वही ओवैसी के भड़काऊ बयान पर जदयू के अध्यक्ष केसी त्यागी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि ओवैसी जलीकट्टू मामले को सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं। हम ओवैसी के बयान से सहमत नहीं है और इसका कड़े शब्दो में विरोध करते है। एक तरह ओवैसी अल्पसंख्यकों का मामला उठा रहे है तो दूसरी तरफ जलीकट्टू मामले को सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं। इससे देश में अराजकता फैलने का डर है। owaisi siad jalikattu ban good work 

आपको बता दें कि ओवैसी ने ट्विटर हैंडलर पर ट्वीट कर कहा है कि जलीकट्टू पर प्रतिबंध हिंदुओं के लिए सबक है। जिस तरह जलीकट्टू के लिए लोग सड़कों पर उत्तर आये है। ठीक उसी तरह से यदि सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक पर प्रतिबंध लगाया तो जलीकट्टू से भी भीषण और हिंसक प्रदर्शन होगा। owaisi siad jalikattu ban good work