पाक फिर से होगा गुलाम : पाक मीडिया




भारत को हानि पहुंचाने के लिए पाकिस्तान लगातार किसी भी तरह के समझौते पड़ोसी देशों से करने को तैयार है। इसी नजर से चीन के साथ पाकिस्तान ने समझौते कर रही है जिसका कोई भविष्य नहीं है। चीन पाकिस्तान को मोहरे बनाकर ऐसे हितों को साधने में लगा है जिससे दीर्घकाल में पाकिस्तान को काफी घाटा होने वाला है। चीन पाकिस्तान को अपना उपनिवेश की तरह व्यवहार करना चाहता है। pak fir se hoga gulam 

pak fir se hoga gulam पाकिस्तान गुलामी की ओर बढ़ रहा है

चीन ने वन बेल्ट वन रोड में ऐसे ही नीति को आगे बढ़ाया है। जिससे की पाकिस्तान में अपना वर्चस्व बनाया जा सके। दरअसल चीन को पाकिस्तान ब्लूचिस्त्न के ग्वादर पोर्ट पर जिनजियांग प्रांत तक इस आर्थिक गलियारे के दोनों तरफ हजारों एकड़ जमीन को लीज पर लेने जा रहा है जिसके लिए पाकिस्तान की ओर हामी भरा जा रहा है। pak fir se hoga gulam 

इसके लिए पेशावर से लेकर कराची तक निगरानी तंत्र का विकास किया जाएगा। जिसपर चौबीस घंटे सीपीइसी की निगरानी रखेगा। यहां तक कि चीनी संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए नेशनल फाइबर ऑप्टिक बेकबोन का इस्तेमाल करेगा। pak fir se hoga gulam




भारत को नुकसान पहुंचाया जाए

चीन इस बहाने पाकिस्तान के संस्कृति को प्रभावित करेगा। पाकिस्तान में पहले ऐसा सौदा नहीं किया गया है साफ तौर पर पाकिस्तान चीन के चंगूल में फंसने जा रहा है। ऐसा कहा जा रहा है कि पाकिस्तान सूती वस्त्र उद्योग को नुकसान पहुंचेएगा। चीन इसी तरह सीमेंट उद्योग पर भी पाकिस्तान पर निर्भर हो जाएगा। जिसके लिए खास रणनीति बनाया है। pak fir se hoga gulam

चीन अपनी सुविधानुसार पाकिस्तान पर दवाब बनाता रहेगा। पहले से ही पाकिस्तान में मुद्रास्फिति 11 फीसदी से ऊपर है। ऐसे में जब पाकिस्तान को खुद को खड़ा होने की जरूरत है चीन से समझौते कर रहा है कि किसी भी तरह से भारत को नुकसान पहुंचाया जाए। pak fir se hoga gulam 

पाक ने जाधव को फांसी दिया तो रिटायर्ड कर्नल को हूर के पास पहुंचा दूंगा : मोदी सरकार

जबकि इस तरह के समझौते से पाकिस्तान को दूरगामी में कोई फायदा नहीं पहुंचने वाला है। चीन अपने अनुसार पाकिस्तान को मोड़ता रहेगा। जिससे की भारत पर दवाब बना रहे। लेकिन इस तरह के समझौते से पाकिस्तान गुलामी की ओर बढ़ रहा है जो काफी संघर्ष के बाद मिली है। pak fir se hoga gulam 

loading…