भारत की विकसित अर्थव्यवस्था VS पाकिस्तान की भुखमरी




पाकिस्तान में दिल दलहाने वाला घटना हुई है जिसमें करीब 123 लोगों की जल कर मौत हो गई और करीब 100 से अधिक घायल हो गए। यह दुर्घटना एक तेल टैंकर के पलटने से हुई। कहा जाता है कि जरा सी सावधानी हटी नहीं कि दुर्घटना घटी। आज आधुनिक युग ने जहां हमें कई सुविधाएं प्राप्त हुई हैं तो कई ऐसी चीजें दे दी हैं कि जिससे संभल कर रहने की जरूरत है। pakistan tanker fire accident 

किसी को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के बहावलपुर जिले में तेल का एक टैंकर पलट गया वहां लोगों की इसलिए भीड़ इकट्ठी हो गई कि फ्री में तेल मिल जाएगा। जब आदमियों की संख्या ज्यादा हो गई तो आपा धापी भी स्वाभाविक है। टैंकर के पलटने के बाद लगातार पेट्रोल रिस रहा था जिसे लेने की होड़ मची थी। ऐसा कहा जा रहा है कि किसी ने सिगरेट जलाई जिससे आग फैल गई और इतना बड़ा दुर्घटना हो गया। pakistan tanker fire accident 

जब तक फायर ब्रिगेड आती तब तक छह कारें सहित बाहर मोटरसाइकिलें जल कर खाख हो चुकी थी। प्रशासन ने चुस्ती दिखाई है बचाव और राहत प्रयासों को तेज कर दिया गया है लेकिन दुर्घटना इतनी भयावह है कि जिसे संभालना स्थानीय प्रशासन की वश के बाहर की है। pakistan tanker fire accident 

जिसके लिए सेना के हेलिकॉप्टरों को लगाया गया है। ऐसी दुर्घटना स्थानीय प्रशासन के सामने कई सवाल खड़े करता है। जब भी टैंकर जो पहले से खतरनाक चीजों से भरा हो उसकी कोई दुर्घटना हो जाती है तो स्थानीय प्रशासन को आनन फानन में अपने नियंत्रण में लेने की जरूरत है। pakistan tanker fire accident 

मैं ईसाई हूँ इसलिए मुसलमानो को इफ्तार पार्टी नहीं दूंगा : ट्रम्प

लेकिन होता इसके विपरीत है स्थानीय प्रशासन के हरकत करने में देर करती है जिससे इस तरह की दुर्घटना गाहे बगाहे हो ही जाती है। जिसके लिए किसी को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है। लेकिन ईद के इस मौके पर इस तरह की दुर्घटना उन परिवारों के लिए काफी दुखद है जो इसका शिकार हो गए। पंजाब के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ ने अधिकारियों से रिपोर्ट पेश करने को कहा है। pakistan tanker fire
accident