पलनिसामी बने तमिलनाडु के नए सीएम, शक्ति परिक्षण में हुए पास




तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलनिसामी ने विधान सभा में स्पीकर के समक्ष विश्वास मत हासिल कर लिया है। इसके साथ ही राज्य में सभी तरह की राजनैतिक हलचल को विराम लग गया है। पलनिसामी के समर्थन में 122 जबकि 11 ने इसके खिलाफ वोट दिया। विश्वास मत प्रस्तुत करते वक्त डीएमके और कांग्रेसी विधायकों को सभा से बाहर रखा गया। palnisami win floor test

तमिलनाडु में कई दिनों से चला आ रहा है उठापठक आज जमीन पर आ धमकी। तमिलनाडु में शक्ति परिक्षण के लिए बुलाये गए विशेष अधिवेशन में विधायकों ने विधान सभा में जमकर हाथापाई और मारपीट की। जिससे विधान सभा के कई कर्मचारी घायल हो गए। palnisami win floor test

डीएमके और कांग्रेसी विधायकों ने सभा में सारी मर्यादा को तार-तार कर दिया। गुप्त मतदान को लेकर विधान सभा के भीतर विपक्षी नेताओं ने मेज, कुर्सियां और माइक को तोड़ दिया। ये यही पर नहीं रुके, शक्ति परीक्षण कर रहे सत्ताधारी पार्टी के विधायको से भी भिड़ गए। जिससे जमकर मारपीट और हाथापाई हुई। जिस कारण विधान सभा अध्यक्ष ने पहले एक बजे तक फिर दोपहर के तीन बजे तक के लिए सभा को स्थगित कर दिया। palnisami win floor test

स्पीकर से धक्कामुक्की भी की गई

आपको बता दें कि शशिकला गुट के विधायको को छोड़कर सभी विपक्ष एकजुट होकर स्पीकर से गुप्त मतदान की मांग की। जिसे स्पीकर ने ठुकरा। जिससे विपक्षी भड़क गए, और जमकर तमिलनाडु विधान सभा के भीतर उत्पात मचाया।

विपक्षी दल के विधायक हंगामा मचाते हुए विधायक सदन के वेल तक पहुँच गए, और डेस्क पर रखी कागज को फाड़ने लगे। वे सभा में रखी कुर्सियां फेंककर माइक्रोफोन तोड़ डाले। वही डी एम के विधायक पी अलादि अरुन ने बेंच पर चढ़कर जमके नारेबाजी की। जबकि कुछ विधायक स्पीकर का घेराव करने लगे। इतने में डीएमके विधायक कू का सेल्वम स्पीकर को धक्का देकर खुद स्पीकर की कुर्सी पर बैठ गए। palnisami win floor test

नोटबंदी के कारण बहुत जल्द पीएम मोदी कोमा में जाने वाले है : राहुल गाँधी

ज्ञात रहे कि राज्यपाल विद्यापति ने पलनीसामी को तमिलनाडु का नया मुख्यमंत्री बनाया है। और उन्हें पंद्रह दिन में विश्वास मत प्रस्तुत करने को आदेश दिया है। ऐसे में आज विधान सभा का विशेष अधिवेशन शक्ति परीक्षण के लिए बुलाया गया है। अब तीन बजे के पता चल पाएगा कि पलनीसामी बहुमत साबित कर पाते है या नहीं। palnisami win floor test

कुछ विधायक स्पीकर का घेराव करने लगे। डीएमके विधायक कू का सेल्वम तो विरोध जताते हुए स्पीकर की कुर्सी पर ही बैठ गए। इसके बाद, पुलिस को अंदर बुलाना पड़ा। स्पीकर को सुरक्षाकर्मियों की निगरानी में बाहर ले जाया गया। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्पीकर से धक्कामुक्की भी की गई और उनके सामने रखी कुर्सी तोड़ दी गई। हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही एक बजे तक स्थगित कर दी गई। palnisami win floor test