पत्थरबाजों को नहीं अरुंधती राय को जीप के आगे बांधो तब ये विपक्षी सुधरेंगे: परेश रावल




पत्थरबाजों के समर्थन में अभी भी कई हस्तियां आगे आती रही हैं जिसकी काफी आलोचना होती रही हैं। प्रसिद्ध लेखिका के समर्थन करने पर उन्हें ही जीप के आगे बांधने की तरफदारी तक कर दी गई। प्रसिद्ध अभिनेता व सांसद परवेश रावल अपने बेवाकी के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने हाल के बयान से विवाद में आ गए। अभिनेता परवेश रावल ने कहा है कि जिस प्रकार से सेना ने एक शख्स को बांधकर घाटी में घुमाया जिससे पत्थरबाजी कम हुई अगर कोई इसका विरोध करता है तो उसे भी ऐसे ही बांध कर घुमाया जाना चाहिए। paresh rawal slams stone pelters

गॉड ऑफ स्माल थिंग्स

परवेश रावेल ने कहा है कि सेना की जीप से पत्थरबाज को बांधने की जगह अरुंधति राय को बांध दिया जाए। गौरतलब है कि प्रसिद्ध लेखिका अरुद्धंति राय ने आर्मी की जीप से बांधकर घुमाने को गलत बताया था और कहा था कि मानवाधिकार का उल्लंघन हुआ है। इस तरह की कार्रवाई से सेना को बचना चाहिए। कई संगठनों ने इसतरह की कार्रवाई की आलोचना की है। paresh rawal slams stone pelters

सेना को काफी नुकसान तो उठाना ही पड़ता है

जिस तरह से सख्श को घुमाया गया उसकी तस्वीर तेजी से वायरल हुई थी जिसके बाद स्थानीय प्रशासन ने भी इसकी जांच के आदेश दे दिए हैं। दरअसल सेना जब अपनी कार्रवाई करती है तो पत्थरबाज लगातार पत्थर फेंक रहे थे जिससे कई सैनिक घायल हो रहे थे।

सेना ने बचने की तरकीब को इजाद किया था जिसकी आलोचना हुई वहीं परवेश रावल ने आलोचना करने वालो को ही निशाने पर ले लिया कि आखिर विरोध क्यों हो रहा है जो इसका विरोध कर रहे हैं उसे ही बांध दो। paresh rawal slams stone pelters

पीएम मोदी कुछ भी कर लें पर कश्मीर में पत्थरबाजी बंद नहीं होगी : अलगाववादी नेता

परेश रावल ने अरुंद्धति राय पर खास निशाना साधा जो अलग राय देने के लिए जानी जाती है। अरुंद्धति राय गॉड ऑफ स्माल थिंग्स पुस्तक से काफी चर्चित रही हैं। परवेश रावल के इस बयान को बहुत से लोगों ने समर्थन किया है। आम राय यह बनती जा रही है कि जिस प्रकार से कार्रवाई सेना कर रही है इसकी जरूरत है नहीं तो सेना को काफी नुकसान तो उठाना ही पड़ता है जनता को भी काफी नुकसान उठाना पड़ता है। paresh rawal slams stone pelters