डिंपल भाभी से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं करूँगा : राहुल गाँधी



उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव के प्रचार हेतु पहुंची डिंपल यादव को समर्थकों के आक्रोश से गुजरना पड़ा। डिंपल यादव जैसे ही इलाहबाद में रैली स्थल पर पहुंची। समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की। जिससे डिंपल यादव घबरा गयी। समर्थक इतने उग्र थे कि वो मंच तक पहुँच गए .जिस कारण डिंपल यादव को भाषण बीच में ही रोकना पड़ा . बाद में सपा प्रवक्ता ऋचा सिंह ने लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की .लेकिन डिंपल के समर्थक नहीं माने .अंत में डिंपल ने खुद मंच पर आकर लोगों से अखिलेश यादव के नाम पर धमकी देते हुए शांति बनाये रखने की अपील की। people Officiousness dimple yadav 

आइये जानते है डिंपल यादव ने उग्र समर्थको को क्या कहा !

डिंपल यादव ने कहा
लोगों की हरकत से मुझे डर लग रहा है। मैं आपलोगों की अखिलेश भैया से शिकायत करुँगी। आप लोग शांत रहे। प्लीज शांत रहिये।
आप चिल्लाते हो तो मुझे डर लगता है।
प्लीज शांत शांत
शांत रहिये
तभी समर्थको ने नारेबाजी शुरू कर दी।
डिंपल यादव ने गुस्से में कहा, चुप रहिये।
कल अखिलेश भैया आ रहे है।
भीड़ में से एक की ओर इशारा करते हुए डिंपल यादव ने कहा बस तुम्हारा ही नाम बताने वाली हूँ।
अच्छा कमाल है
मतलब हां !
कहाँ से ट्रेनिंग पाई है।
आप लोगों में अनुसाशन ही नहीं है।
बहुत बुरी आदत है
बहुत बुरी बात है।

इतना कहने के बाद भी डिंपल के समर्थक नहीं, आख़िरकार डिंपल यादव ने रैली को बीच में ही समाप्त कर दिया।
भाषण समाप्त होते ही समर्थक मंच तक आ पहुंचे, और जमकर नारेबाजी की। डिंपल यादव की सुरक्षा में सेंध लगाते हुए समर्थक उनके कार तक पहुँच गए। जंहा बड़ी मशक्कत के बाद अखिलेश यादव की पत्नी को सुरक्षित कार में बिठाया गया। people Officiousness dimple yadav 

उत्तर प्रदेश में किस प्रकार की सुशासन व्यवस्था है

डिंपल यादव के साथ बदसलूकी के लिए प्रशासन ने इलाहाबाद थाने को तलब किया है और मामले की जांच के आदेश दिए है। वही अखिलेश यादव ने पूरी घटना की निंदा करते हुए कहा कि सपा के लिए समर्थकों का प्यार की भावना सराहनीय रहा है। लेकिन उग्र रूप से प्यार को दर्शना गलत है। जबकि राहुल गाँधी ने डिंपल यादव के साथ बदसलूकी के लिए लोगों की आलोच्य करते हुए कहा कि इसमें जरूर कोई साजिश है। डिंपल भाभी से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं करूँगा। people Officiousness dimple yadav 

पीएम मोदी ने देश को कंगाल कर दिया है : सोनिया गाँधी

डिंपल यादव के साथ समर्थको की बदसलूकी से पता चलता है की उत्तर प्रदेश में किस प्रकार की सुशासन व्यवस्था है। यदि प्रदेश में मुख्यमंत्री की पत्नी सुरक्षित नहीं है तो आम महिलाएं और बेटियों का क्या हर्ष होगा ? ये विचारणीय योग्य विषय है कि आखिर मुख्यमंत्री की पत्नी को अपने ही राज्य में क्यों डर लगा ? यदि उत्तर प्रदेश की जनता डिंपल यादव के साथ हुए बदसलूकी से सबक ले तो प्रदेश में परिवर्तन लाये अन्यथा अगले पांच वर्ष तक उन्हें असमाजिक तत्व के बुरे व्यवहार से कुंठित रहना पड़ेगा।  people Officiousness dimple yadav 
( प्रवीण कुमार )